Now Reading
Facebook बना रहा है अपना ‘ऑपरेटिंग सिस्टम’; कंपनी के हार्डवेयर प्रोडक्ट्स में होगा इस्तेमाल

Facebook बना रहा है अपना ‘ऑपरेटिंग सिस्टम’; कंपनी के हार्डवेयर प्रोडक्ट्स में होगा इस्तेमाल

तकनीकी रूप से खुद को अपडेट रखने या ऐसा दिखाने के लिए कंपनियां अक्सर नई नई चीज़ों को लॉन्च करती नज़र आती रहती हैं।

इसके साथ ही अपनी लोकप्रियता बढ़ाने के लिए कंपनी ऐसे उत्पादों या तकनीकों को अपनाना भी पसंद करती हैं, जिससे कंपनी की निर्भरता अन्य किसी कंपनी की तकनीक पर कम हो जाए। 

दरसल अमेरिका में Huawei के साथ हुई घटना के बाद कंपनी द्वारा HarmonyOS नामक खुद का ऑपरेटिंग सिस्टम लांच करना इसका ही एक बेहतरीन उदाहरण है। 

और अब इसी से सबक लेते हुए शायद Facebook ने भी ऐसा ही कुछ करने का सोचा है। दरसल कंपनी भी अपने हार्डवेयर उत्पादों को लेकर Google पर बहुत अधिक निर्भर नहीं होना चाहती है और इसलिए वह Android OS के बजाए अपने उत्पादों में खुद के बनाये गये OS का इस्तेमाल करने पर विचार कर रही है।

जी हाँ! सही सुना आपने यह सोशल नेटवर्किंग दिग्गज कंपनी अब अपने खुद के OS पर काम कर रही है जो कंपनी के हार्डवेयर उत्पादों को संचालित करता नज़र आएगा। आपको बता दें कंपनी के हार्डवेयर उत्पादों में Oculus VR हेडसेट्स और पोर्टल डिवाइस इत्यादि शामिल हैं। 

इसके साथ ही इस सूचनाओं से साथ सामने आई रिपोर्ट्स में यह भी दावा है किया गया है कि कंपनी ने इस OS के निर्माण के लिए WindowsNT के सह-निर्माता को इस प्रोजेक्ट को लीड करने की जिम्मेदारी सौंपी हैं।

साथ ही इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि यह सॉफ्टवेयर एक दम शुरुआत से बनाया जा रहा है।

हालाँकि ऑपरेटिंग सिस्टम बनाने को लेकर यह Facebook की कोई पहली पहल नहीं है। दरसल इससे पहले कंपनी ने Home के लिए एक OS बनाने की कोशिश की थी लेकिन बाद में अपना विचार बदलते हुए कंपनी ने Google के Android को अपनाया था।

See Also
nasa-x-59-quiet-supersonic-jet-rolls-out

लेकिन अब एक बार फ़िर से इस विषय में कोशिश करने से यह साबित हो चुका है कि Facebook ऑपरेटिंग सॉफ्टवेर क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने को लेकर बेहद बेक़रार है।

इसके साथ ही आपको बता दें ऑपरेटिंग सिस्टम के अलावा रिपोर्ट्स में Facebook द्वारा Apple के Siri और Amazon के Alexa की तर्ज पर ही एक वॉयस असिस्टेंट बनाने को लेकर काम किये जाने का भी दावा किया गया है।

दरसल एक रिपोर्ट के अनुसार कंपनी ने अपने इस वॉयस असिस्टेंट को ट्रेनिंग देने के लिए Microsoft से उसके सर्च इंजन Bing के लिए डेटा लाइसेंस की मांग भी की है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.