Now Reading
127 साल बाद Godrej कारोबार के बंटवारे को मिली CCI की मंजूरी

127 साल बाद Godrej कारोबार के बंटवारे को मिली CCI की मंजूरी

  • Godrej Group के बंटवारे को मिली CCI की मंजूरी
  • दो भागों में बंट रहा है भारत का 127 साल पुराना समूह
godrej-groups-split-gets-cci-approval

Godrej Group Split Gets CCI Approval: भारत के कुछ सबसे बड़े और पुराने कारोबारी घरानों में से एक Godrej Group में लगभग 127 साल पुरानी विरासत का बँटवारा होने जा रहा है और अब इसको भारतीय नियामक की मंजूरी भी मिल गई है। जी हाँ! सामने आ रही जानकारी के अनुसार, भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) ने गोदरेज परिवार को कंपनी के बँटवारे की अनुमति दे दी है।

आपको बता दें, गोदरेज परिवार ने अप्रैल 2024 में 127 साल पुराने समूह को दो हिस्सों में बाँटने का फैसला किया था। गोदरेज समूह की पांच सूचीबद्ध कंपनियां परिवार के मुखिया आदि गोदरेज और उनके भाई नादिर गोदरेज के प्रबंधन के तहत रहेंगी। इनमें कंज़्यूमर गुड्स, रियल एस्टेट, कृषि, रसायन और खुदरा क्षेत्र से जुड़ी कंपनियाँ शामिल हैं।

Godrej Group Split Gets CCI Approval

प्रस्तावित बँटवारा परिवार शाखाओं के सदस्यों जैसे आदि गोदरेज एंड फैमली (ABG Family), नादिर गोदरेज एंड फैमली (NBG Family), जमशेद गोदरेज एंड फैमली (JNG Family) और स्मिता कृष्णा एंड फैमली (SVC Family) के बीच हो रहा है। इसका खुलासा CCI द्वारा जारी जानकारी में किया गया है। यह पूरी प्रक्रिया असल में गोदरेज ग्रुप के सदस्यों के बीच एक पारस्परिक व्यवस्था के अनुसार हितों के पुनर्गठन, कानूनी स्वामित्व और गोदरेज समूह के भीतर विभिन्न संस्थाओं के प्रबंधन से संबंधित है।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

इस बँटवारे के साथ ही गोदरेज ग्रुप अब दो हिस्सों में बंट जाएगा। कंपनी के मालिकों ने सहमति से ‘ओनरशिप रीडिस्ट्रीब्यूशन’ का ऐलान किया था। इसको लेकर बीतें कुछ सालों से बातचीत चल रही थी और अंततः आपसी सहमति के तहत कंपनी दो हिस्सों में बाँटी जा रही है।

CCI द्वारा साझा की गई जानकारी में यह भी बताया गया है कि Godrej Group का यह पुनर्गठन 30 अप्रैल, 2024 के पारिवारिक निपटान समझौते (FSA) के तहत होगा, जिसे पारिवारिक शाखाओं द्वारा ही पूरा किया जाएगा।

वैसे इस पारिवारिक निपटान सौदे में कुल 26 लोग शामिल हैं। समूह द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, दोनों संगठन “अपनी साझा विरासत को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं” और “गोदरेज” ट्रेडमार्क का उपयोग करना जारी रखेंगे। इसमें रॉयल्टी के बिना ब्रांड के उपयोग की अनुमति होगी।

गोदरेज इंडस्ट्रीज लिमिटेड, गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड, गोदरेज प्रॉपर्टीज लिमिटेड और गोदरेज एग्रोवेट लिमिटेड ग्रुप की ही सहायक इकाइयों में से हैं। गोदरेज सीड्स एंड जेनेटिक्स लिमिटेड, गोदरेज एंड बॉयस मैन्युफैक्चरिंग कंपनी लिमिटेड, गोदरेज होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड, गोदरेज इन्फोटेक लिमिटेड भी ग्रुप में शामिल हैं।

बता दें, आपसी सहमति के तहत परिवार के बीच किए जा रहे इस बँटवारे में एक हिस्सा आदि गोदरेज (उम्र 82 वर्ष) और उनके भाई नादिर गोदरेज (उम्र 73 वर्ष) को मिला है। जबकि दूसरा हिस्सा उनके चचेरे भाई जमशेद गोदरेज (उम्र 75 वर्ष) और बहन स्मिता कृष्णा (उम्र 74 वर्ष) का होगा।

See Also
justin-trudeau-on-india-canada-diplomats-conflict

आदि गोदरेज और नादिर गोदरेज को ग्रुप की पांच लिस्टेट कंपनियां मिलेगीं। वहीं दूसरी ओर जमशेद गोदरेज और स्मिता को गोदरेज एंटरप्राइजेज का नियत्रंण मिल सकेगा। इसमें गोदरेज एंड बॉयस और उसकी सहयोगी कंपनियां और मुंबई की प्रमुख जमीनें भी शामिल हैं।

अपनाई जाएगी नई व्यवस्था

इस नए बदलावों के तहत गोदरेज इंडस्ट्रीज ग्रुप की अध्यक्षता नादिर गोदरेज संभालेंगे, वहीं पिरोजशा गोदरेज एग्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट होंगें। जबकि अगस्त 2026 में पिरोजशा गोदरेज चेयरमैन के रूप में नियुक्त किए जाएंगे।

इस बीच जमशेद गोदरेज को ‘गोदरेज इंटरप्राइजेज’ का चेयरपर्सन और मैनेजिंग डॉयरेक्टर को बनाया गया है, वहीं स्मिता की 42 वर्षीय बेटी न्यारिका होल्कर एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर पे पद पर नियुक्त की गई हैं। गोदरेज इंटरप्राइजेज के अधीन एयरोस्पेस, एविएशन, डिफेंस, मोटर्स, ऊर्जा, इंट्रालॉजिस्टिक्स हेल्थकेयर डिवाइस, फर्नीचर, इंटीरियर डिजाइन, आर्किटेक्चरल फिटिंग, आईटी, सॉफ्टवेयर जैसे व्यवसाय आते हैं।

अभी क्या है स्थिति?

वर्तमान समय में आदि गोदरेज ग्रुप के अध्यक्ष का पद संभाल रहे हैं, वहीं उनके भाई नादिर, गोदरेज इंडस्ट्रीज और गोदरेज एग्रोवेट में अध्यक्ष हैं। चचेरे भाई जमशेद गैर-सूचीबद्ध गोदरेज एंड बॉयस मैन्युफैक्चरिंग कंपनी के अध्यक्ष हैं। इसके साथ ही, उनकी बहनें स्मिता कृष्णा और ऋषद की भी गोदरेज एंड बॉयस में हिस्सेदारी है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.