Now Reading
ChatGPT को मिला ‘Incognito Mode’, OpenAI ने पेश किया नया प्राइवेसी फीचर

ChatGPT को मिला ‘Incognito Mode’, OpenAI ने पेश किया नया प्राइवेसी फीचर

sam-altman-to-invest-in-india-meet-pm-modi

OpenAI’s ChatGPT Gets Incognito Mode: इस बात में कोई शक नहीं है कि बीतें कुछ सालों से दुनिया भर में क्रिप्टोकरेंसी जैसी तमाम तकनीकी विषयों को पीछे छोड़ते हुए, OpenAI का आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) आधारित चैटबॉट, चैटजीपीटी (ChatGPT) लगातार लोकप्रियता हासिल करते हुए, खबरों में बना हुआ है।

इंटरनेट की दुनिया में आज ChatGPT के विषय में हर कोई बात कर रहा है, रोजाना इसने नए-नए तरीके के उपयोग देखने को मिल रहे हैं। और इन सबके चलते OpenAI का यह टूल बड़ी मात्रा में यूजर्स डेटा से भी डील कर रहा है। ऐसे में इसको लेकर कई गंभीर चिंताएँ भी व्यक्त की जाती रही हैं।

लेकिन अब ऐसा लगता है कि माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) समर्थित इस कंपनी ने इन तमाम चिंताओं को दूर करने दिशा में प्रयास शुरू कर दिए हैं। असल में OpenAI ने अब ChatGPT के लिए एक नया प्राइवेसी फीचर पेश किया है।

इस प्राइवेसी फीचर को चैटबॉट में एक ‘इंकॉग्निटो मोड’ (Incognito Mode) की तर्ज पर देखा जा सकता है। इसके जरिए कंपनी का प्रयास, प्राइवेसी के नजरिए से उपयोगकताओं की हिस्ट्री को सुरक्षित बनाने का है।

क्या थी समस्या? 

होता ये है कि OpenAI का यह एआई चैटबॉट उपयोगकर्ताओं के अनुभव को सरल व बेहतरीन बनाने के लिए अपनी क्षमता को बढ़ाने के मकसद से बातचीत को संगृहीत और याद कर लेता है, जिससे आगामी चैट के दौरान उपयोगकर्ताओं को और सटीक जवाब देने की कोशिश की जा सके।

OpenAI की प्राइवेसी पॉलिसी के मुताबिक, कंपनी वैध व्यावसायिक उद्देश्यों के लिहाज से व्यक्तिगत जानकारियाँ जैसे – नाम, ईमेल एड्रेस और पेमेंट डिटेल्स स्टोर कर सकती है। शायद इतना सुनते ही एक बार के लिए आपके माथे पर भी चिंता की लकीर आ गई हो।

असल में OpenAI द्वारा चतगपत को प्रशिक्षित करने के लिए ग्राहकों के डेटा का इस्तेमाल करने को लेकर दुनिया भर में तमाम बहस चल रहीं हैं। आलम ये है कि इटली की सरकार ने ‘गैरकानूनी रूप से उपयोगकर्ताओं का डेटा एकत्र’ करने जैसे आरोपों के तहत ChatGPT पर प्रतिबंध (बैन) तक लगा दिया है।

इतना ही नहीं बल्कि सामने आ रही मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो फ्रांस और स्पेन जैसे अन्य कुछ देश भी ChatGPT को बैन करने पर विचार कर रहे हैं। ऐसे में साफ तौर पर कंपनी इस नए कदम के जरिए यूजर्स की प्राइवेसी संबंधित चिंताओं को कम करने का प्रयास कर रही है।

OpenAI launches incognito mode for ChatGPT: क्या हैं नया फीचर?

नए फीचर के तहत OpenAI ने उपयोगकर्ताओं को चैट हिस्ट्री बंद कर सकने का विकल्प प्रदान किया है। अगर यूजर्स इस विकल्प को चुनते हैं तो चैट के समय एआई चैटबॉट के साथ होने वाली बातचीत को संगृहीत नहीं की जाएगा, जैसा ‘इंकॉग्निटो मोड’ (Incognito Mode) की मूल खासियत बताई जाती है।

OpenAI launches incognito mode for ChatGPT
How to enable incognito mode on ChatGPT

ऐसे में ChatGPT आपके साथ होने वाली बातचीत को स्टोर नहीं करेगा और ना ही इसे अपनी ट्रेनिंग आदि के लिए इस्तेमाल कर सकेगा।

See Also
advisory-on-edtech-apps

पेश हो सकता है ChatGPT Business सब्सक्रिप्शन प्लान

इसके साथ ही Reuters की एक रिपोर्ट में यह भी सामने आया है कि OpenAI विशेष रूप से कंपनियों के लिए अतिरिक्त डेटा कंट्रोल की सुविधा प्रदान करने के लिए ChatGPT Business नामक एक नया सब्सक्रिप्शन प्लान भी पेश कर सकता है।

यह मुख्य रूप से उन पेशेवरों के लिए भी उपयोगी साबित होगा जो अपने डेटा पर अधिक नियंत्रण रखना चाहते हैं या फिर वो कंपनियाँ जो अपने ग्राहकों के डेटा को सुरक्षित रखने का मजबूत दावा पेश करना चाहती हैं।

यह भी सामने आया है कि ChatGPT Business संगठन की एपीआई संबंधित डेटा उपयोग नीतियों का पालन करते हुए, डिफ़ॉल्ट रूप से अपने मॉडलों को प्रशिक्षित करने के लिए ग्राहकों के डेटा को इस्तेमाल नहीं करेगा।

बताते चलें कि इसके पहले कंपनी ने लगभग $20 प्रति माह की कीमत के साथ ChatGPT Plus नामक सब्सक्रिप्शन सुविधा का आगाज किया था।

इस सब्सक्रिप्शन के तहत यूजर्स को अत्यधिक उपयोग यानी ‘पीक-टाइम’ के दौरान भी सहूलियत के साथ ChatGPT का इस्तेमाल करने की इजाजत मिलती है। इन प्रीमियम यूजर्स को प्राथमिकताएँ दी जाती हैं। साथ ही चैटबॉट का रिस्पांस टाइम भी काफी तेज हो जाता है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.