Now Reading
Swiggy अपने ‘क्लाउड किचन’ विभाग से कर सकता है करीब 300-400 कर्मचारियों की छंटनी: रिपोर्ट

Swiggy अपने ‘क्लाउड किचन’ विभाग से कर सकता है करीब 300-400 कर्मचारियों की छंटनी: रिपोर्ट

swiggy-announces-four-day-work-weeks-in-may

मौजूदा लॉकडाउन के हालातों में जहाँ एक तरफ ऐसी खबरें आ रहीं हैं कि देश में ई-रिटेलर्स काफी बड़े पैमाने पर स्थानीय और प्रवासी कर्मचारियों को नौकरी देने की योजना बना रहें हैं। वहीँ ऐसे वक़्त में ऑनलाइन फूड डिलीवरी स्टार्टअप Swiggy के संदर्भ में एक निराशाजनक खबर भी सामने आई है।

दरसल Entrackr द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, ऑनलाइन फूड डिलीवरी स्टार्टअप Swiggy  अगले महीनें करीब 800-900 कर्मचारियों की छंटनी करने जा रहा है। इस रिपोर्ट में मामले के जानकार दो लोगों के हवाले से यह बात कही गयी है।

माना जा रहा है यह फैसला कंपनी द्वारा अपनी लागत में कटौती की योजना के संदर्भ में बोर्ड की मंजूरी मिलने के बाद लिया गया है। स्वाभाविक रूप से देश में स्टार्टअप्स को फ़िलहाल COVID-19 की वजह से पैदा हुए नए हालातों में भारी आर्थिक चुनौती का सामना करना पड़ रहा है, और इसको उसी के एक परिणाम के रूप में देखा जा सकता है।

लेकिन दिलचस्प रूप में इस रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि इस छटनी के तहत जिन कर्मचारियों को कंपनी छोड़ने के लिए कहा जा सकता है, वे मुख्यतः Siwggy की क्लाउड किचन डिवीजन टीम से हो सकतें हैं।

दरसल हम यह बता दें कि बेंगलुरु आधारित यह स्टार्टअप अपने क्लाउड किचन के लगभग आधे हिस्से को बंद करने की प्रक्रिया में है। सूत्रों की माने तो जिन क्लाउड किचन के पास ग्राहक आधार कम हैं, उन्हें बंद किया जा रहा है और अन्य के लिए भी जगह के किरायों आदि को लेकर फिर से बीतचीत की जा रही है।

इस बीच क्लाउड किचन विभाग में छंटनी और इसके आधे बिज़नेस को बंद करने की खबर तब आई है जब फ़रवरी से अब तक 2 बार के निवेश में कंपनी अपने मौजूदा निवेशकों से लगभग $153 मिलियन का तजा निवेश हासिल कर चुकी है। आपको बता दें Swiggy के मौजूदा निवेशकों में से एक Tencent ने कंपनी के इस Series I दौर का $43 मिलियन के साथ नेतृत्व किया था।

वहीँ रिपोर्ट में सूत्रों ने बताया कि यह छंटनी कंपनी वार्षिक प्रदर्शन समीक्षा के आधार पर करेगी, जिससे खराब प्रदर्शन और कम ग्रेड वाले करीब 40% (लगभग 300) कर्मचारियों के निकालने जाने की उम्मीद है।

इस बीच Swiggy के एक प्रवक्ता ने निकाले जा सकने वाले कमर्चारियों की संख्या का जिक्र न करते हुए कहा;

“लॉकडाउन के बढ़ जाने के बाद फ़िलहाल हमारा ध्यान कंपनी के विभिन्न संसाधनों का मूल्यांकन करनें में है। जिसके तहत हम अपने किचन बिज़नेस को बढ़ाने और लाभदायक बनाने के प्रयास कर रहें हैं। इसके लिए हम जगहों के मालिकों से किराये को लेकर बातचीत कर करने के साथ ही साथ कुछ किचन को स्थानांतरित करने और लॉकडाउन से बुरी तरह प्रभावित किचनों को बंद करने की भी योजना बना रहें हैं।”

“लेकिन इस प्रक्रिया से दुर्भाग्यपूर्ण रूप से किचन कर्मचारियों का खासा वर्ग प्रभावित होगा।”

See Also
Firozabad district will become chandranagar proposal change name

गौर करने वाला एक पहलु यह भी है कि Swiggy ने फरवरी-मार्च की शुरुआत में ही छंटनी की योजना बनाई थी, लेकिन बाद में कंपनी ने उस फ़ैसले को वापस ले लिया था।

यह सच है कि लॉकडाउन के चलते फ़ूड डिलीवरी स्टार्टअप्स की रोजना की ऑर्डर संख्या में भारी गिरावट दर्ज की गयी है। असल में कुछ आंकड़ों के अनुसार लॉकडाउन के पहले तक यही फ़ूड डिलीवरी स्टार्टअप्स रोजना के करीब 1 मिलियन ऑर्डर डिलीवर कर रहे थे।

वहीँ दिल्ली में फ़ूड डिलीवरी कमर्चारी के संक्रमण से पॉजिटिव पाए जाने और उसके 70 से अधिक परिवारों के संपर्क में आने की खबर के बाद हालात और भी गंभीर हो गयें हैं। इन सबकों देखते हुए तेलंगाना ने तो पूरे राज्य में 7 मई तक फ़ूड डिलीवरी पर प्रतिबंध लगा दिया है।

वहीँ इस बीच कई जगहों में सरकारी अधिकारियों ने क्लाउड किचन ब्रांडों को अपने कार्यबल के आधे हिस्से का इस्तेमाल कर अपना संचालन करने के निर्देश भी दिए हैं।

दरसल यह असर वैश्विक स्तर पर भी हुआ है, जैसे Travis Kalanick के CloudKitchens में भी बड़े पैमाने पर प्रभावित हुई है, यहाँ तक कि कई कई प्रमुख कर्मचारियों ने भी कंपनी का साथ छोड़ दिया है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.