Now Reading
कोरोना वायरस के चलते Bitcoin भी प्रभावित; पिछले 10 महीनों में सबसे अधिक लुढ़कते हुए पहुँचा $5000 के करीब

कोरोना वायरस के चलते Bitcoin भी प्रभावित; पिछले 10 महीनों में सबसे अधिक लुढ़कते हुए पहुँचा $5000 के करीब

cryptos-a-threat-to-financial-stability-of-india-rbi-governor-shaktikanta-das

क्रिप्टोकरेंसी का दूसरा नाम बन चुका Bitcoin भी अब कोरोना वायरस के प्रकोप से बच नहीं सका। आलम यह है कि दुनियाभर के बाज़ार में बिक्री में काफी तेज गिरावट के चलते अब Bitcoin की कीमत लगभग $5000 तक सिमट गई है।

जी हाँ! यह पिछले 10 महीनों में Bitcoin की कीमतों में आई सबसे अधिक गिरावट है। फ़िलहाल इस आर्टिकल को लिखने तक इस क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग कीमत $5,105.80 तक आ गई है।

Source-Coin360

Bloomberg की एक रिपोर्ट के मुताबिक क्रिप्टो एक्सचेंज Luno के सिंगापुर के बिज़नेस डेवलपमेंट प्रमुख, विजय अय्यर ने कहा,

“मौजूदा हालातों में निवेशक किसी भी जोखिम भरी संपत्ति से बाहर निकल रहे हैं। भले ही बिटकॉइन की तुलना सोने के सामान एक सुरक्षित संपत्ति के तौर पर की जाती रही हो, लेकिन ऐसे हालातों में इसे भी अधिक जोखिम वाली संपत्ति के ही रूप में देखा जा रहा है।”

इस बीच अन्य क्रिप्टोकरेंसियों की बात करें तो वह अमेरिकी सरकार द्वारा कोरोनो वायरस के प्रकोप के चलते अपनाए जाने वाले उपायों से घबरा कर पारंपरिक बाजारों की ही तरह वह भी काफी तेज गिरावट दर्ज कर रहीं हैं।

ऐसी गिरावट शेयर बाजारों से लेकर देशों की आर्थिक स्थिति तक में देखी जा रही है। साथ ही हाल में डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा अमेरिका और यूरोप के बीच यात्रा पर 30 दिन का प्रतिबंध लगाने की घोषणा के बाद बाज़ार के लिए हालात और भी खराब होते नज़र आ रहें हैं।

See Also
nothing-is-bringing-imessage-to-android

लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण यह है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के कम होने के कोई भी संकेत फ़िलहाल नज़र नहीं आ रहें हैं और जिसके चलते क्रिप्टोकरेंसी में भी यह गिरावट कुछ समय तक जारी रहने का अनुमान है।

आपको बता दें ट्रम्प की हाल ही की घोषणा के बाद शुरुआती कारोबार में 7% से अधिक की गिरावट के साथ अमेरिका भर के शेयर बाजारों में गुरुवार सुबह से ही गिरावट जारी रही।

इस बीच मौजूदा हालातों में एक ओर जहाँ लेवल-1 मार्केट में व्यापक तौर पर सर्किट ब्रेकर ट्रेडिंग थम सी गई है, वहीँ इक्विटी बाजारों में जल्द ही वापस से ट्रेडिंग शुरू होने का अनुमान लगाया जा रहा है। लेकिन इतना तो साफ़ है कि कोरोना वायरस नामक इस महामारी ने लोगों की ज़िंदगियों के साथ ही साथ दुनिया भर की अर्थव्यवस्थाओं को भी काफ़ी बुरी तरह से प्रभावित कर दिया है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.