Now Reading
Amazon India 7 अप्रैल को करेगा सेलर्स फीस में बदलाव, महँगा होगा सामान? – रिपोर्ट

Amazon India 7 अप्रैल को करेगा सेलर्स फीस में बदलाव, महँगा होगा सामान? – रिपोर्ट

  • ई कॉमर्स कंपनी अमेजन सेलर फीस में बदलाव कर रही है.
  • नया फीस स्ट्रक्चर 7 अप्रैल से लागू हो जाएगा.
aws-to-invest-12-7-billion-in-india

Amazon India seller Fee Hike: दिग्गज ईकॉमर्स कंपनी अमेजन (Amazon) को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है, यह Amazon के सेलर्स के साथ उन लोगों को परेशान कर सकती है, जो इसके नियमित उपभोक्ता है।

मिली जानकारी के अनुसार ई कॉमर्स कंपनी अमेजन सेलर फीस में बदलाव कर रही है। कंपनी सात अप्रैल से अपने मार्केटप्लेस ‘अमेजन डॉट इन’ पर विक्रेताओं के लिए अपने फीस स्ट्रक्चर को संशोधित कर रही है। इसमें रेफरल फीस, क्लोजिंग चार्ज और वेट हैंडलिंग चार्ज के अलावा अन्य एंसिलरी फीस शामिल हैं, कंपनी का यह फैसला 7 अप्रैल से अमेजन पर सामान बेचने वालों पर गाज बनकर गिरने वाला है।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, अमेजन ने सभी सेलर्स को सूचना दे दी है कि नया फीस स्ट्रक्चर 7 अप्रैल से लागू हो जाएगी,बढ़ी हुई फीस प्रोडक्ट की कीमत के हिसाब से तय की जाएगी।

क्या होती है सेलर फीस!

आपको जानकारी के लिए बता दे, दिग्गज ई कॉमर्स कंपनी Amazon और उसके जैसी अन्य कंपनियां अपने प्लेटफार्म में अन्य कंपनियों के प्रोडक्ट को बेचने देने के लिए उक्त कंपनियों के मालिकों से या प्रोडक्ट के सेलर से एक फीस चार्ज करता है, यह फीस ही उनकी कमाई का साधन होती है। इसका स्पष्ट सा अर्थ है, जो भी वस्तु अमेज़न में बिकता है, उसमे सेलर फीस के तौर में एक निश्चित राशि अमेज़न के पास जाती है। इसके पहले सेलर फीस मई 2023 में बढ़ाई गई थी। स्वाभाविक है, सेलर फीस बढ़ने से इसमें उपलब्ध प्रोडक्ट भी महंगे होगे।

See Also
wework-files-for-bankruptcy

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

इन वस्तुओ के बढ़ सकती है कीमतें

कार इलेक्ट्रॉनिक्स, कैमरा एक्सेसरीज, कीबोर्ड एवं माउस और पर्सनल केयर प्रोडक्ट की कीमतों में बदलाव होने जा रहा है, इसके अलावा ग्रॉसरी पर 9 फीसदी, 3 डी प्रिंटर पर 10 फीसदी फीस, डोर एवं विंडो पर 10 फीसदी और ब्यूटी प्रोडक्ट (Amazon India seller Fee Hike) पर 6.5 फीस कर दी गई है। इसके अलावा कुछ प्रोडक्ट्स पर फीस घटाई भी गई है, इनवर्टर एवं बैटरी पर अब 4.5 फीसदी और फ्रेगरेंस पर 12.5 फीसदी फीस ली जाएगी।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.