Now Reading
Paytm Payments Bank के कर्मचारी ने की आत्महत्या, नौकरी खोने का था डर?

Paytm Payments Bank के कर्मचारी ने की आत्महत्या, नौकरी खोने का था डर?

  • Paytm Payments Bank के कर्मचारी ने की आत्महत्या
  • वहीं Vijay Shekhar Sharma ने बोर्ड से दिया इस्तीफा
paytm-upi-market-share-drops-to-9-percent-after-bank-closed

Paytm Payments Bank Employee Commits Suicide: फिलहाल आरबीआई की सख्ती के चलते पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (PPBL) एक कठिन दौर से गुजर रहा है। इस बीच एक दुखद खबर यह सामने आ रही है कि कंपनी के 35 वर्षीय कर्मचारी ने कथित तौर पर फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मामला मध्य प्रदेश के इंदौर का बताया जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से सामने आई जानकारियों के मुताबिक, पुलिस ने शुरुआती जाँच के आधार पर बताया कि व्यक्ति बीतें कुछ दिनों से तनाव में था। उन्हें हाल की घटनाओं के चलते नौकरी खो सकने का डर था। शख़्स का नाम गौरव गुप्ता और उम्र 35 साल थी।

Paytm Payments Bank Employee Commits Suicide

पुलिस अधिकारी के अनुसार, शुरुआती जानकारी में पता चला है कि वह आशंका की वजह से तनाव में थे कि कहीं Paytm बंद ना हो जाए और उनकी नौकरी भी ना चली जाए। फिलहाल पुलिस द्वारा गहन जाँच की जा रही है। अब तक उपलब्ध जानकारी के अनुसार, पुलिस ने किसी प्रकार सुसाइड नोट प्राप्त नहीं किया है।

Vijay Shekhar Sharma का इस्तीफा

इस बीच Paytm की मुश्किलें कम होती दिखाई नहीं दे रही हैं। कल ही कंपनी के संस्थापक और सीईओ विजय शेखर शर्मा ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक के नॉन-एग्जीक्यूटिव चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया है। इतना ही नहीं बल्कि विजय शेखर शर्मा ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक  के बोर्ड से भी इस्तीफा दे दिया है।

यह सभी बदलाव RBI की हालिया सख्ती के चलते होते नजर आ रहे हैं। इसके चलते पेटीएम पेमेंट बैंक पर के बोर्ड में प्रमुख बदलाव किए गए हैं।  पेटीएम ने खुद कल 26 फ़रवरी को एक प्रेस रिलीज के ज़रिए इसकी जानकारी साझा की है।

विजय शेखर शर्मा के इस्तीफे के साथ ही साथ बोर्ड में कई नए लोगों को जगह दी गई है। पेटीएम पेमेंट बैंक के बोर्ड के पुनर्गठन के तहत सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन श्रीनिवासन श्रीधर रिटायर्ड IAS देबेंद्रनाथ सारंगी, बैंक ऑफ बड़ौदा के पूर्व एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर अशोक कुमार गर्ग और रिटायर्ड IAS रजनी सेखरी सिब्बल को बोर्ड के सदस्य के रूप में नामित किया गया है।

See Also
up-govt-allocates-₹1000-cr-startup-fund

क्यों Paytm Bank पर लगे प्रतिबंध

खबरों में सामने आया कि Paytm Payments Bank के खिलाफ एक सिस्टम ऑडिट रिपोर्ट के साथ ही थर्ड पार्टी ऑडिटरों की कंपलायंस वेलीडेशन रिपोर्ट को आधार बनाकर ही RBI ने पाबंदियो से जुड़ा बड़ा फैसला किया।

बताया जा रहा है, RBI का मानना है कि संबंधित रिपोर्ट्स में यह सामने आया है कि Paytm Payments Bank के कामकाज के तरीकों में निरंतर खामियां दर्ज की गई। ये रिपोर्ट्स कथित रूप से कंपनी पर नॉन-कंपलायंस और सुपरवाइजरी संबंधी चिंताओं को भी उजागर करती पाई गई।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.