Now Reading
वॉटर मैनेजमेंट स्टार्टअप DigitalPaani ने हासिल किया लगभग ₹10 करोड़ का निवेश 

वॉटर मैनेजमेंट स्टार्टअप DigitalPaani ने हासिल किया लगभग ₹10 करोड़ का निवेश 

  • वॉटर मैनेजमेंट स्टार्टअप DigitalPaani ने अपने सीड फंडिंग राउंड में $1.2 मिलियन का निवेश प्राप्त किया है।
  • वर्तमान में टाटा पॉवर, दिल्ली जल बोर्ड, और लीला होटल्स समेत 40 से अधिक इंडस्ट्री दिग्गज इस स्टार्टअप की तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं।
water-management-startup-digitalpaani-raises-rs-10-cr-funding

Startup Funding – DigitalPaani: जल प्रबंधन (वॉटर मैनेजमेंट) स्टार्टअप DigitalPaani ने अपने सीड फंडिंग राउंड में $1.2 मिलियन (लगभग ₹10 करोड़) का निवेश हासिल किया है। कंपनी को यह निवेश Elemental Excelerator, Enzia, Peer Cheque, SAE, DevC और Bharat Founders Fund से मिला है।

इसके साथ ही निवेश दौर में Urban Ladder के संस्थापक आशीष गोयल, Delhivery के सह-संस्थापक मोहित टंडन, आलोक मित्तल (Indifi), मोहित सदानी (Moms Co) और समेत कुछ एंजेल्स ने भी भागीदारी दर्ज करवाई।

DigitalPaani नामक इस स्टार्टअप की स्थापना पिता-पुत्री की जोड़ी – मानसी जैन और राजेश जैन द्वारा की गई थी। यह असल में एक इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) आधारित प्लेटफॉर्म है, जो पानी के पुन: उपयोग को सक्षम बनाने के लिए प्लांट ऑपरेशन को बेहतर करते हुए कई पहलुओं जैसे अपशिष्ट जल के उपचार (वॉटर ट्रीटमेंट), डाउनटाइम को कम करने आदि में मदद करता है।

यह स्टार्टअप अपशिष्ट जल उपचार बुनियादी ढांचे (वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट) की कार्यक्षमता को बढ़ाने के लिए ऑटोमेशन और सॉफ्टवेयर सॉल्यूशन प्रदान करता है। इसके अलावा यह प्लांट के प्रदर्शन की निगरानी करने, खामियों आदि की पहचान करने और समाधान को लेकर मार्गदर्शन भी मुहैया करवाता है।

कंपनी के मुताबिक इसकी तकनीक के इस्तेमाल से ना सिर्फ अपशिष्ट जल के उपचार क्षमता में 30% तक की वृद्धि दर्ज की गई, बल्कि कमर्शियल साइटों पर लागत के लिहाज से 66% तक की बचत भी संभव हो सकी है।

कंपनी ने बताया कि प्राप्त की गई इस नई पूँजी का इस्तेमाल देश भर में अधिक से अधिक अपशिष्ट जल उपचार संयंत्रों (वेस्ट वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट्स) में अपनी तकनीक को पहुँचानें और भविष्य के बाजारों की संभावनाओं को तलाशने जैसी योजनाओं के लिए किया जाएगा।

आगामी एक साल में स्टार्टअप का लक्ष्य राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली, मुंबई, बैंगलोर, चेन्नई, पुणे और हैदराबाद सहित प्रमुख शहरों में सेंटर्स के विकास में तेजी लाने का है। कंपनी 150 से अधिक वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट्स की मदद करने और उनका अधिक कुशल संचालन सुनिश्चित करते हुए, देश के जल स्थिरता लक्ष्यों में अहम योगदान देती नजर आएगी।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

See Also
ed-starts-inquiry-against-paytm-payments-bank

दिलचस्प रूप से वर्तमान में टाटा पॉवर (Tata Power), दिल्ली जल बोर्ड (Delhi Jal Board), ब्रिटानिया (Britannia) और लीला होटल्स (Leela Hotels) समेत लगभग 40 से अधिक दिग्गज कंपनियाँ इस स्टार्टअप की टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रही है।

नए निवेश को लेकर स्टार्टअप की सीईओ और सह-संस्थापक मानसी जैन ने कहा,

“हम अपनी पेशकश को आगे बढ़ाने और देश भर के प्लांट्स को हमारे प्लेटफॉर्म की क्षमता से लैस करने में मदद को लेकर उत्साहित हैं।”

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.