बिहार में खुलेंगे ‘मेगा स्किल सेंटर’, 18 जिलों से होगी शुरुआत, जानें यहाँ?

  • बिहार का श्रम संसाधन विभाग हर जिले में एक-एक मेगा 'कौशल केंद्र' या 'स्किल सेंटर' खोलनें जा रहा है।
  • प्रदेश में इस पहल की शुरुआत फरवरी में एक साथ 18 जिलों के साथ की जाएगी।
bihar-will-open-mega-skill-centers-in-each-district

Bihar Will Open Mega Skill Centers In Each District: बिहार में नौकरी की तलाश करने वाले युवाओं के लिए एक बड़ी अपडेट सामने आई है। सामने आ रही जानकारी के अनुसार, प्रदेश सरकार का श्रम संसाधन विभाग अब बिहार के हर जिले में एक-एक मेगा ‘कौशल केंद्र’ या ‘स्किल सेंटर’ खोलनें जा रहा है। इसका मकसद संबंधित स्किल की ट्रेनिंग प्रदान करते हुए युवाओं को रोजगार प्रदान करना है।

प्रदेश भर में इस पहल की शुरुआत आगामी फरवरी में एक साथ 18 जिलों के साथ की जाएगी। इसके बाद धीरे-धीरे श्रम संसाधन विभाग हर जिले में एक-एक मेगा स्किल सेंटर खोलेगा। इसके लिए सरकार देश की विभिन्न नामी कंपनियों का भी सहयोग लेगी।

Bihar Will Open Skill Centers:

इस नई पहल के तहत, बिहार सरकार के श्रम संसाधन विभाग ने बेरोजगारों की ट्रेनिंग प्रदान करने के लिए विश्व बैंक, ब्रिटिश काउंसिल, टीसीएस, डब्ल्यूएससी, नेस्कॉम, बार्बीक्यू नेशन, वी-मार्ट (V-Mart), जोमैटो (Zomato), रिलायंस जिओ (Reliance Jio) आदि दिग्गज कंपनियों के साथ समझौता करने की योजना बनाई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस संबंध में कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत काफी हद तक पूरी हो चुकी है।

बिहार के श्रम संसाधन मंत्री सुरेंद्र राम के मुताबिक, आज के समय में मार्केट में कुशल श्रमिकों की मांग बढ़ रही है। इन्हीं को ध्यान में रखते हुए, प्रदेश सरकार ने सभी जिलों में मेगा कौशल केंद्र स्थापित करने का फैसला किया है। इसकी शुरुआत पायलट प्रोजेक्ट के रूप में कुछ जिलों में की जाएगी।

बिहार में मेगा स्किल सेंटर

बिहार में शुरू होने जा रहे इस स्किल सेंटर के चलते प्रदेश के युवाओं को सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि उन्हें घर के पास ही रोजगार मिल सकेगा या फिर स्वरोजगार शुरू करने के अवसर मिलेंगे।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

आसान भाषा में कहें तो बिहार के बेरोजगारों को रोजगार की तलाश में दूसरे राज्यों में जाने की मजबूरी नहीं होगी और पलायन को भी रोकने का प्रयास किया जा सकेगा। हम सब जानते हैं कि वर्तमान में हजारों की संख्या में बिहार के युवा अन्य राज्यों में रोजगार की तलाश में पलायन को मजबूर होते हैं।

See Also
foreign-universities-ugc-new-guidelines

इन स्किल सेंटर्स पर एग्रीकल्चर (कृषि), कपड़ा, इलेक्ट्रॉनिक्स, हार्डवेयर, ग्रीन जॉब, हेल्थ केयर, पॉवर, रबर, लौह और इस्पात जैसे क्षेत्रों में प्रशिक्षण प्राप्त किया जा सकेगा। स्किल सेंटर्स में कंपनियाँ ही बेरोजगार युवाओं को संबंधी कौशल प्रशिक्षण प्रदान करती नजर आएँगी। इतना ही नहीं बल्कि प्रशिक्षण पूरा होने के बाद, कंपनियाँ योग्य उम्मीदवारों को रोजगार की भी पेशकश करेंगी।

बिहार एम्प्लॉयमेंट फेअर (रोज़गार मेला)

यह खबर ऐसे वक्त में सामने आई है, जब हाल में ही बिहार के बेगुसराय में ‘जिला नियोजन कार्यालय’ की ओर से ‘एम्प्लॉयमेंट फेअर’ यानी ‘रोजगार मेले’ का आयोजन किया गया। इस रोजगार मेले के तहत प्रदेश भर के युवाओं को निजी कंपनियों में योग्यता के आधार पर राज्य के भीतर ही नौकरी पानें का मौक़ा दिया गया।

बिहार में पिछले कुछ समय से सरकारी भर्तियों को लेकर भी सरकार ने तेजी दिखाते हुए, तमाम पदों पर नियुक्तियों को पूरा किया है। ऐसे में फिलहाल प्रदेश में युवाओं के लिए अच्छे अवसर उपलब्ध होने की बात कही जा रही है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.