Now Reading
Paytm में लगभग अपनी 3.6% हिस्सेदारी बेच सकता है Antfin – रिपोर्ट

Paytm में लगभग अपनी 3.6% हिस्सेदारी बेच सकता है Antfin – रिपोर्ट

paytm-withdraws-general-insurance-business-registration

Antfin To Sell 3.6% Stake In Paytm: पिछले कुछ समय से फिनटेक दिग्गज Paytm के कुछ निवेशकों के बीच अपनी-अपनी हिस्सेदारी बेचने की होड़ सी नजर आ रही है। इसी क्रम में अब कंपनी के एक और निवेश Antfin ने भी अपनी लगभग 3.6% हिस्सेदारी बेचने का मन बनाया है।

जी हाँ! नामी चीनी फर्म Ant Group की वेंचर इकाई Antfin (Netherlands) Holdings फिनटेक स्टार्टअप Paytm की पैरेंट कंपनी One97 Communications के 2.27 करोड़ शेयर या लगभग 3.6% हिस्सेदारी बेचने की तैयारी कर ली है।

इस बात का खुलासा इकोनॉमिक टाइम्स (ईटी) की एक हालिया रिपोर्ट में फाइलिंग दस्तावेज़ों के हवाले से किया गया है।

Antfin To Sell 3.6% Stake In Paytm

सामने आई जानकारी के अनुसार, Antfin लगभग ₹880 प्रति शेयर के दाम पर अपनी हिस्सेदारी बेचेगी, जो गुरुवार को Paytm शेयर की ₹904.4 की कीमत की तुलना में बेशक कम है।

Antfin ब्लॉक डील के तहत अपने शेयरों को बेचने का काम करेगी। यह भी सामने आया है कि इस डील को पूरा करने के लिए Citibank को बतौर ब्रोकर नियुक्त किया गया है। देखा जाए तो इस डील के तहत लगभग $234 मिलियन Antfin को प्राप्त हो सकते हैं। 

वैसे ये साफ कर दें कि फिलहाल Paytm या Ant Group की ओर से अभी तक कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की गई है। Antfin असल में चीनी फिनटेक दिग्गज Ant Financial की नीदरलैंड आधारित शाखा है।

antfin-to-sell-3-6-percent-stake-in-paytm

लेकिन ध्यान देने वाली बात है कि कुछ ही दिन पहले चीन आधारित Ant Financial ने Paytm में अपनी 10% हिस्सेदारी Resilient Asset Management को ट्रांसफर कर दी थी।

बता दें Resilient Asset Management असल में Paytm के संस्थापक और सीईओ – विजय शेखर शर्मा के पूर्ण मालिकाना हक वाली एक कंपनी है।

उस डील के बाद Paytm में Ant Financial (ANTFIN) की हिस्सेदारी घटकर 13.5% ही रह गई थी, जबकि Paytm में विजय शेखर शर्मा की हिस्‍सेदारी बढ़कर 19.42% हो गई है।

See Also
dunzo-layoffs-150-200-employees-formally

लेकिन अब इस नई डील के बाद माना जा रहा है कि Ant Financial (ANTFIN) की हिस्सेदारी अब लगभग 10% तक सिमट सकती है।

यह सब ऐसे वक्त में हो रहा है जब इसी साल फरवरी में चीनी दिग्गज अलीबाबा (Alibaba) द्वारा Paytm में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेच दी गई थी।

वहीं पहले से ही जापान का सॉफ्टबैंक (Softbank) ने भी ओपन मार्केट डील के तहत Paytm में अपनी हिस्सेदारी में कटौती किए जाने की खबर है।

मौजूदा हालातों को देखते हुए, कुछ जानकारों का कहना रहा है कि नोएडा आधारित फिनटेक दिग्गज Paytm की एक मंशा ‘चीनी निवेशकों’ वाली छवि से उभरने की भी है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.