Now Reading
भारत का पहला UPI आधारित “बिना कॉर्ड चलने वाला ATM” हुआ लॉन्च

भारत का पहला UPI आधारित “बिना कॉर्ड चलने वाला ATM” हुआ लॉन्च

indias-first-upi-based-card-less-atm-facility-launched

ऑटोमेटिक टेलर मशीनों (ATMs) बनाने वाली कंपनी NCR Corporation ने 1 अप्रैल को City Union Bank के साथ मिलकर भारत में पहली बार इंटरऑपरेबल कार्डलेस कैश-विदड्रॉल (ICCW) सुविधा या कहें तो UPI आधारित कॉर्डलेस ATM लॉन्च किया है।

जी हाँ! सही सुना आपने, ये ATM असल में बिना किसी कॉर्ड के यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) प्लेटफॉर्म पर आधारित है। बता दें City Union Bank ने अपने 1,500 ATMs को इस नई सुविधा के लिए अपग्रेड किया है जो अब क्यूआर कोड (QR Code) आधारित होंगे।

यह नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन द्वारा संचालित एक पहल है, जिसके तहत UPI- आधारित  QR कोड के ज़रिए इंटरऑपरेबल कार्डलेस कैश विदड्रॉल (ICCW) का इस्तेमाल कर, कोई भी किसी भी बैंक के ATM से सॉफ़्टवेयर अपग्रेड होने के बाद पैसे निकाल सकता है।

समाचार एजेंसी पीटीआई को NCR Corporation के भारत के प्रबंध निदेशक और दक्षिण पूर्व एशिया के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष, नवरोज़ दस्तूर ने बताया;

“मोबाइल फोन पर UPI ऐप का इस्तेमाल करने के बाद अब ये अगला क़दम है जिसमें ATM में भी किसी भी कार्ड का इस्तेमाल किए पैसे निकाले जा सकेंगें।”

इस बीच उन्होंने यह भी जानकारी दी कि क्योंकि यह UPI-आधारित सेवा केवल UPI ऐप सेवा का ही एक विस्तार मात्र है, इसलिए इसको लेकर किसी अतिरिक्त नियामक या NCPI की अनुमति की आवश्यकता नहीं है।

India_frist_card-less_atm

उनकी मानें तो City Union Bank के मौजूदा ATMs को इस सुविधा लायक़ अपग्रेड करने के ज़रिए केवल मौजूदा सॉफ़्टवेयर को अपग्रेड किया गया है, बाक़ी कोई भी हार्डवेयर अपग्रेड या परिवर्तन करने की ज़रूरत नहीं पड़ी है।

UPI based interoperable cardless cash withdrawal (ICCW) ATMs

आइए जानते हैं कि UPI ऐप आधारित ATM के ज़रिए ग्राहकों को क्या क्या लाभ मिलते नज़र आ सकते हैं?

1. इस सुविधा का उपयोग करते हुए, ग्राहक मोबाइल पर किसी भी UPI आधारित एप्लिकेशन जैसे BHIM, Paytm, Google Pay आदि के ज़रिए ही ATM से कैश निकाल सकेंगें।

See Also
google-to-bring-circle-to-search-feature-to-pc-via-chrome-update

2. ग्राहकों को ATM जाते वक़्त किसी भी तरह का ATM कॉर्ड रखने या स्वाइप करने की ज़रूरत नहीं होगी, बल्कि उन्हें सिर्फ़ स्क्रीन पर दिख रहे क्यूआर कोड को स्कैन करना होगा। इसके बाद ग्राहकों को अपने मोबाइल फोन के माध्यम से कैश निकालने की मंज़ूरी देनी होगी।

3. साथ ही इस तरीक़े से होने वाले लेनदेन की सुरक्षा बढ़ाने के लिए क्यूआर कोड को अक्सर बदला जाता रहेगा। और क्योंकि ट्रैक्शन डायनेमिक क्यूआर कोड पर आधारित है, इसलिए क्यूआर कोड को कॉपी नहीं किया जा सकता क्योंकि प्रत्येक ट्रांजैक्शन के वक़्त क्यूआर कोड बदलता रहेगा।

4. फ़िलहाल इस तरीक़े से मतलब बिना कॉर्ड UPI सुविधा के ज़रिए ATM से ₹5,000 ही निकाले जा सकेंगें।

5. ग्राहक इस UPI-आधारित इंटरऑपरेबल कार्डलेस कैश विदड्रॉल (ICCW) सुविधा का लाभ किसी भी बैंक के ATM से उठा सकते हैं, बशर्ते वह ATM नए सॉफ़्टवेयर पर अपग्रेड किया जा चुका हो।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.