Now Reading
मध्य प्रदेश: बड़ा ब्लास्ट, हरदा में पटाखा फैक्ट्री का मामला, 11 की मौत

मध्य प्रदेश: बड़ा ब्लास्ट, हरदा में पटाखा फैक्ट्री का मामला, 11 की मौत

  • मध्य प्रदेश में भयानक हादसा, ब्लास्ट के चलते कई लोगों की मौत
  • प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री ने जारी किया बयान, जानें क्या कहा?

Accident in firecracker factory of Harda, Madhya Pradesh: मध्यप्रदेश के हरदा जिले से एक बड़ी खबर सामने आई जिसके बाद प्रदेश में हर कोई सकते में आ चुका है। राज्य में पक्ष हो या विपक्ष सभी लोगों ने हादसे को लेकर संवेदनाएं व्यक्त की है। पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट से आधा दर्जन से अधिक लोगों के मारे जाने की खबर प्रकाश में आई हैं।

दरअसल मध्यप्रदेश के हरदा जिले में एक अवैध फटाखा फैक्ट्री में विस्फोट की घटना सामने आई है, विस्फोट इतना अधिक भयानक था कि आसपास क्षेत्र की जमीन भी कंपित हो उठी। प्राप्त जानकारी के मुताबिक अब तक हादसे में 9 लोगों के मारे जाने की खबर आई है, और कई लोगों के घायल होने की ख़बर है। 17 से अधिक घायलों को शीघ्र उपचार के लिए नर्मदापुरम, इंदौर, प्रदेश की राजधानी भोपाल भेजा गया है।

पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट के पीछे कारण फैक्ट्री (Accident in firecracker factory of Harda, Madhya Pradesh) में रखी बारूद को बताया जा रहा है, साथ ही जब फैक्ट्री में विस्फोट हुआ तब फैक्ट्री में 30 के आसपास मजदूर मौजूद थे। ऐसे में इस हादसे में मरने वाले लोगों की संख्या बढ़ सकती है।

हादसा इतना भयानक आईटीआई में धमाके की गूंज

मध्य प्रदेश के हरदा के बैरागढ़ स्थित पटाखा फैक्ट्री का धमाका इतना बड़ा था कि, फैक्ट्री से 400 मीटर की दूरी में स्थित आईटीआई के छात्र भी सहम गए। धमाके के दौरान छात्र और छात्राएं अपनी अपनी कक्षाओं में मौजूद थे, पर जैसे ही फैक्ट्री के धमाके की आवाज उनके कानों तक पहुंची वह सभी सहम गए आईटीआई में भी अफरा तफरी का माहौल बन गया।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

प्रधानमंत्री मोदी सहित भाजपा नेताओं ने जताया दुःख

हरदा जिले के बैरागढ़ में हुए पटाखा फैक्ट्री में हादसे को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की उन्होंने X (पूर्व नाम ट्वीटर)के माध्यम से कहा,

 “मध्य प्रदेश के हरदा में एक पटाखा फैक्ट्री में दुर्घटना के कारण हुई लोगों की मृत्यु से व्यथित हूं। उन सभी के प्रति संवेदना जिन्होंने अपने प्रियजनों को खोया है। जो घायल हुए हैं वे जल्द से जल्द ठीक हों। स्थानीय प्रशासन सभी प्रभावित लोगों की सहायता कर रहा है। प्रत्येक मृतक के परिजनों को पीएमएनआरएफ (प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष) से 2 लाख रुपये दिए जाएंगे। साथ ही घायलों को 50 हजार रुपये दिए जाएंगे।”

दूसरी ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने भी हादसे को लेकर दुख जताया है साथ ही वह इसमें घायलों के उपचार के लिए उचित प्रबंधन के लिए नज़र बनाए हुए है। मुख्यमंत्री ने घटना की स्थिति का जायज़ा लेने के लिए मंत्री उदय प्रताप सिंह, एसीएस अजीत केसरी, डीजी होम गार्ड अरविंद कुमार को हेलीकॉप्टर से हरदा जाने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश सरकार ने हादसे से प्रभावित प्रति परिवार चार-चार लाख रुपये देने की घोषणा की है। इस पूरी दुर्घटना के जांच के आदेश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, इस घटना को लेकर गृह सचिव जांच कर मुझे रिपोर्ट सौंपेंगे साथ ही इसमें दोषी लोगों को बख्शा नहीं जाएगा।

कांग्रेस ने अवैध पटाखा फैक्ट्री के ऊपर उठाए सवाल

इस पूरे घटनाक्रम को लेकर कांग्रेस ने सरकार के ऊपर सवाल उठाए है,नेता प्रतिपक्ष ने हादसे में दुःख व्यक्त करते हुए राज्य सरकार से सवाल किया है, उन्होंने अपने X अकाउंट में ट्वीट के माध्यम से कहा,

See Also
edtech-startup-admitkard-raises-rs-50-cr-funding

“हरदा का हादसा बेहद दर्दनाक है, अवैध पटाखा फैक्ट्री में भीषण ब्लास्ट हुआ. जिससे कई लोगों की मौत हुई और घायल हुए है। फैक्ट्री के आसपास के 50 से ज्यादा घरों में आग लगने की भी जानकारी मिली। धमाका इतना तेज था कि पूरा शहर दहल गया, घटना के समय वहां काम करने वाले करीब 30 लोगों का कोई पता नहीं है, सवाल है कि आखिर रहवासी इलाके में बारूद का भंडार कैसे जमा था? पुलिस और प्रशासन को क्या इसकी जानकारी नहीं थी? इस अवैध फैक्ट्री को किसकी शह थी, जो प्रशासन ने अनदेखी की? “

इसी प्रकार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने भी अपने X अकाउंट में लिखा है,

“मैं शासन से अनुरोध करता हूं, हादसे की विस्तृत जांच करवाएं,घायलों के उपचार की व्यवस्था भी तत्काल सुनिश्चित हो।”

कांग्रेस में उपनेता प्रतिपक्ष हेमंत सत्यदेव कटारे ने हादसे को लेकर सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा, यह हादसा सरकार की नाकामी है, मैं ईश्वर से सभी प्रभावित लोगों के कुशल होने की कामना करता हूं।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.