Now Reading
जम्मू-कश्मीर: क्या लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े TRF ने ली तीर्थयात्रियों की बस पर हमले की जिम्मेदारी?

जम्मू-कश्मीर: क्या लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े TRF ने ली तीर्थयात्रियों की बस पर हमले की जिम्मेदारी?

  • बस पर हमले की जिम्मेदारी द रेजिस्टेंस फ्रंट ने ली
  • TRF ने ऐसे ही और हमले करने की भी धमकी दी
pak-backed-lets-trf-claims-responsibility-for-reasi-bus-terror-attack-in-jammu-kashmir

TRF Claims Responsibility For Reasi Bus Attack in Jammu Kashmir: जम्मू-कश्मीर के रियासी में रविवार को तीर्थयात्रियों की बस पर हुए आतंकी हमले को लेकर अब एक बड़ी अपडेट सामने आ रही है। घात लगाकर किए गए इस कायरना हमले की जिम्मेदारी कथित रूप से पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन द रेजिस्टेंस फ्रंट यानी TRF ने ली है। यह आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़ा बताया जाता है।

इतना ही नहीं बल्कि मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस आतंकी संगठन – द रेजिस्टेंस फ्रंट (TRF) ने आगे भी ऐसे और हमले करने की धमकी दी है। इन सब के बीच अब भारत की सुरक्षा एजेंसियां और भी सतर्क हो गई हैं और इन आतंकवादियो को जल्द से जल्द पकड़ने के लिए तलाशी अभियान व्यापक पैमानें पर तेज किए जा रहे हैं।

TRF Claims Responsibility For Reasi Bus Attack

आपको बता दें, बीते रविवार की शाम लगभग 6 बजे श्रद्धालुओं को लेकर शिवखोड़ा मंदिर से कटरा लौट रही एक बस पर आतंकवादियों ने घात लगाकर अचानक गोलियाँ बरसानी शुरू कर दीं। हमले के चलते बस ड्राइवर को भी गोली लगी और बस सड़क किनारे गहरी खाई में जा गिरी। इस आतंकी हमले में महिलाओं और छोटे बच्चे समेत कुल 10 लोगों की मौत हुई, जबकि 30 से अधिक लोग घायल हैं, जिनका इलाज चल रहा है।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

फिलहाल इंडिया टुडे की एक ताजा रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान समर्थित कहे जाने वाले आतंकी संगठन द रेजिस्टेंस फ्रंट (TRF) ने इस हमले के पीछे की जिम्मेदारी की है। रिपोर्ट के मुताबिक, TRF की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इसने ही रियासी में तीर्थयात्रियों की बस पर हुए हमले को अंजाम दिया है। वह आने वाले दिनों में पर्यटक और गैर-स्थानीय लोगों पर इसी तरह के और भी हमले करेंगे।

इस आतंकी संगठन ने इस हमले को नए सिरे से शुरुआत बताया है। फिलहाल भारत के सुरक्षा बल और संबंधित एजेंसियों ने TRF की इस धमकी को गंभीरता से लिया है और अभी के लिए हमलों में शामिल आतंकवादियों को जल्द से जल्द पकड़ने की कोशिश जारी है। इस बीच रिपोर्ट्स के हवाले से यह भी सामने आ रहा है कि हमले के लिए जानबूझकर शपथ ग्रहण समारोह का दिन चुना गया।

See Also
arvind-kejriwal-sent-to-tihar-jail-till-april-15

NIA करेगा जांच

इस मामले को लेकर अब गृह मंत्रालय की ओर से आतंकी हमले की गहन जाँच की जिम्मेदारी राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी NIA को सौंपी गई है। साथ ही साथ भारतीय सेना और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) की ओर से भी आतंकियों की तलाश की जा रही है। अब तक सामने आ रही जानकारी के अनुसार, मामले में फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (FSL) की एक टीम को भी शामिल किया गया है ताकि हमलावरों से जुड़े हर एक छोटी-बड़ी पहलू का पता लगाने की कोशिश की जा सके।

कैसे हुआ हमला?

शुरुआती जानकारी के अनुसार तीर्थयात्रियों से भरी एक बस जम्मू-कश्मीर के रियासी स्थित शिवखोड़ी गुफा तीर्थ स्थल पर माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए कटरा की ओर रवाना हुई थी। लेकिन इस दौरान घात लगाकर बैठे आतंकवादियों ने पोनी क्षेत्र के तेरयाथ गांव के पास गोलीबारी शुरू कर दी। इस दौरान बस के ड्राइवर को भी एक गोली लग गई और बस ने नियंत्रण खो दिया और सड़क किनारे खाई में जा गिरी। इसके बाद भी आतंकवादियों ने गोलीबारी जारी रखी।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.