राजस्थान में इन 10 दवाओं पर लगा बैन? RMSC का बड़ा फैसला, देखें पूरी लिस्ट?

  • आरएमएससी ने राजस्थान की दवा कंपनियों के ऊपर की कार्रवाई.
  • कफ सिरप से लेकर आई ड्रॉप तक किया बैन.
doctors-must-mention-reason-while-prescribing-anti-biotics-govt

10 medicines banned in Rajasthan: राजस्थान में राजस्थान मेडिकल सर्विसेज कॉरपोरेशन ने 10 के करीब दवा सामग्रियों को मानकों के अनुरूप न होने के चलते पूरे राज्य में तत्काल समय से प्रतिबंध कर दिया है। उक्त 10 दवाइयों के लिए इसकी निर्माता 8 कंपनियों की 10 दवाओं के आपूर्ति में बैन लगा दिया गया है।

कफ सिरप से लेकर आई ड्रॉप तक अमानक

आरएमएससी की प्रबंध निदेशक श्रीमती नेहा गिरि ने बताया कि मै. अग्रोन रेमेडीज को कफ सिरप व क्लोरमफेनिकल आई ड्रॉप 0.5%, मै. अलायन्स बायोटेक को हाइड्रोकोर्टीसोन सोडियम इंजेक्शन, मै. एएनजी लाइफ साइंसेज को आर्टसुनेट इंजेक्शन, मै. लिनस लाइफ केयर को डोरजोलामाइड आई ड्रॉप 2%, मै. मैक्सवेल लाइफ साइंसेज को सालब्यूटामॉल सिरप के नमूने अमानक पाए जाने पर दवाओं की आपूर्ति हेतु निश्चित अवधि के लिए प्रतिबंधित किया गया है।

इन दवाओं को भी किया गया बैन

मै. मेडीपोल फार्मास्यूटिकल को डोमपेरिडोन सस्पेंशन, मै. सॅमकेम को आयरन एंड फोलिक ऐसिड सिरप व लिक्विड पैराफिन तथा मै. स्कॉट एडिल को इट्राकोनाजोल कैप्सूल के नमूने अमानक पाए जाने पर दवाओं की आपूर्ति के लिए प्रतिबंधित किया गया है।

गौरतलब हो पूर्व में राजस्थान औषधि नियंत्रण विभाग ने नशे आनी वाली दवाइयों जो की बिना डॉक्टर के पर्ची के नही दिया जाना चाहिए फिर भी कुछ मेडिकल स्टोर्स में इस प्रकार की दवाओं को बिना डॉक्टर की पर्ची के दिए जानें को लेकर (10 medicines banned in Rajasthan) भी कार्रवाई की थी। उक्त मेडिकल स्टोर्स के ऊपर औषधि नियंत्रण विभाग ने लाइसेंस रद्द करने सहित मेडिकल को सील करने की कार्रवाई की थी।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

See Also
Delhi NCR Schools Gets Bomb Threat

राज्य में दवाओं की गुणवत्ता और प्रबंधन को लेकर विभाग प्रतिबद्ध है, कोई भी ऐसी अमानक दवाएं जो लोगों के द्वारा उपयोग करने में संभावित नुकसान पहुंचा सकती है, उसकी जांच करना दवाओं में आंशिक गुंजाइश दवाओं की अमानक स्थिति लोगों के स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती है। ऐसी स्थिति से निपटने के लिए सुरक्षा के लिए इस प्रकार के फैसले अक्सर लिए जाते हैं।

 

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.