Now Reading
सिंगापुर के बाद हांगकांग ने भी बैन किए Everest और MDH के कुछ मसाले, जानें वजह?

सिंगापुर के बाद हांगकांग ने भी बैन किए Everest और MDH के कुछ मसाले, जानें वजह?

  • भारतीय मसाला निर्माता कंपनियों के उत्पादों में कथित रूप से कार्सिनोजेनिक कीटनाशक एथिलीन ऑक्साइड की मात्रा पाई गई.
  • मद्रास करी पाउडर, सांभर मसाला पाउडर और करी पाउडर में एथिलीन ऑक्साइड की मौजूदगी का पता चला.
Everest spice manufacturing company controversy

Spices of Everest and MDH companies banned: भारतीय दिग्गज मसाला कंपनी एवरेस्ट की मुश्किलें बढ़ती जा रही है, सिंगापुर के बाद हांगकांग ने भी कंपनी के मसालों को भारत से आयात में बैन लगा दिया है, इसके अलावा हांगकांग सरकार ने तत्काल प्रभाव से इसकी बिक्री में भी पाबंदी लगा दी है।

मिली जानकारी के अनुसार भारतीय मसाला निर्माता कंपनियों के उत्पादों में कथित रूप से कार्सिनोजेनिक कीटनाशक एथिलीन ऑक्साइड की मात्रा पाई गई हैं।

हांगकांग में रूटीन सर्वेलैंस प्रोग्राम के दौरान जांच में भारतीय कंपनिया एवरेस्ट फ़ूड प्रोडक्ट्स के साथ एमडीएच प्राइवेट लिमिटेड के तीन मसाला उत्पाद मिश्रणों- मद्रास करी पाउडर, सांभर मसाला पाउडर और करी पाउडर में एथिलीन ऑक्साइड की मौजूदगी का पता चला है, जिसके बाद हांगकांग में इसे बिक्री के लिए पाबंदी लगा दी हैं।

हांगकांग फूड विभाग की ओर से बयान

मसालों को बैन करने के संबंध में हांगकांग के अधिकारियों की ओर से एक बयान में कहा गया कि, CFS (सेंटर फॉर फूड सेफ्टी) ने अपने नियमित फूड प्रोगाम के तहत परीक्षण के लिए शिम शाह सुई ने तीन रिटेल स्टोर से उक्त मसालों के नमूने एकत्र किए थे, नमूने की जांच के नतीजों से पता चला कि नमूनों में एक कीटनाशक, एथिलीन ऑक्साइड था। सीएफएस ने संबंधित विक्रेताओं को अनियमितताओं और मसालों में हानिकारक मिक्षण होने के बारे में सूचित कर दिया है और उन्हें बिक्री रोकने और प्रभावित उत्पादों को दुकानों से हटाने का निर्देश दिया है।

ज्ञात हो, पूर्व के दिनों में सिंगापुर सरकार ने भी भारतीय कंपनी एवरेस्ट के फिश करी मसाले में कीटनाशक का उपयोग किए जानें की बात की थी, इसके साथ ही (Spices of Everest and MDH companies banned) सिंगापुर सरकार ने मसाले की बिक्री को देश में बैन करते हुए संबंधित डीलर्स को इस बात की जानकारी दी थी।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

See Also
Former DHFL director Dheeraj Wadhawan arrested

कैंसर का खतरा

एवरेस्ट में फिश करी मसाला में जिस एथिलीन ऑक्साइड की मात्रा का जिक्र किया गया है, उसे लेकर इंटरनेशनल एजेंसी फ़ॉर रिसर्च ऑन कैंसर द्वारा ग्रुप 1 कार्सिनोजेन के रूप में वर्गीकृत किया गया है, जो मानव स्वास्थ्य में गंभीर स्वास्थ्य खतरे पैदा करता है, जिनमें ब्रेस्ट कैंसर का खतरा भी शामिल है।

 

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.