Now Reading
Byju’s की इस यूनिट ने बैंकरप्सी के लिए किया आवेदन, रवींद्रन होंगे कंपनी से अलग?

Byju’s की इस यूनिट ने बैंकरप्सी के लिए किया आवेदन, रवींद्रन होंगे कंपनी से अलग?

  • Byju's की अमेरिकी यूनिट Alpha द्वारा बैंकरप्सी के लिए आवेदन
  • निवेशकों द्वारा कंपनी के सह-संस्थापकों को बाहर निकालने की कथित माँग भी खबरों में
prosus-and-peak-xv-voted-to-fire-ceo-byju-raveendran

Byju’s Unit Files Bankruptcy: एडटेक स्टार्टअप Byju’s की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। एक के बाद एक कंपनी के सामने नई-नई चुनौतियाँ खड़ी होती जा रही हैं। कभी देश के सबसे अधिक वैल्यूएशन वाले इस स्टार्टअप द्वारा हाल में वैल्यूएशन में 99% की कटौती के साथ $200 मिलियन का निवेश हासिल करने की खबर भी सामने आई थी। और अब एक ताजा अपडेट यह है कि कंपनी की अमेरिका आधारित इकाई Byju’s Alpha ने बैंकरप्सी के लिए आवदेन दायर किया है।

जी हाँ! Byju’s Alpha द्वारा डेलावेयर स्थित एक अदालत में चैप्टर 11 बैंकरप्सी यानी दिवालिया  हेतु पिटीशन दायर की गई है। Reuters की एक रिपोर्ट में किए गए खुलासे के मुताबिक, अदालत में दायर याचिका के जरिए यह सामने आया है कि Byju’s की Alpha इकाई ने $1 बिलियन से $10 बिलियन तक की देनदारियाँ होने की जानकारी दी है।

Byju’s Unit Files Bankruptcy

इतना ही नहीं बल्कि Byju’s Alpha के लेनदारों की संख्या लगभग 100 से 199 के बीच बताई जा रही है। दिलचस्प रूप से यहाँ एक ऐसे स्टार्टअप से संबंधित इकाई की बात हो रही है, जो साल 2022 में $22 बिलियन की वैल्यूएशन पर थी।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

दिवालिया होने की कगार पर Byju’s?

यह खबर ऐसे समय में आई है, जब कुछ दिनों पहले ही मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार विदेशी लोन प्रदाताओं (लेंडर्स) ने भारत में Byju’s के ख़िलाफ दिवालिया यानी बैंकरप्सी याचिका दायर की है।  यह बैंकरप्सी याचिका भारत के नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) की बेंगलुरु बेंच में दायर की गई।

यह मामला Byju’s के विवादित $1.2 बिलियन के टर्म लोन भुगतान से ही संबंधित है। साल 2021 में इस एडटेक कंपनी ने विदेशी लोन प्रदाताओं से $1.2 बिलियन की टर्म लोन सुविधा हासिल की थी। इसको लेकर कुछ समय पहले ऋणप्रदाताओं और Byju’s के बीच विवाद पैदा हो गया था। जानकारी के मुताबिक, जिन विदेशी ऋणप्रदाताओं ने नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) के समक्ष बैंकरप्सी याचिका दायर की है, वह असल में इस $1.2 बिलियन के लोन में कुल मिलाकर 85% तक के हिस्सेदार हैं।

See Also
spicejet-layoff-2024

कंपनी संस्थापकों को हटाना चाहते हैं निवेशक

इस बीच एक और खबर जोर पकड़ रही है, जिसके मुताबिक Byju’s की पैरेंट कंपनी Think & Learn Pvt Ltd. के लगभग 6 निवेशकों ने एक नोटिस जारी करते हुए एमरजेंसी जनरल मीटिंग (EGM) बुलाने की मांग की। इसका खुलासा पीटीआई की एक रिपोर्ट के जरिए हुआ है। इसमें कंपनी के कुछ दिग्गज निवेशकों ने कंपनी के सह-संस्थापक और सीईओ बायजू रवींद्रन को कंपनी से बाहर करने की मांग की है।

इस संभावित मीटिंग में कंपनी के बोर्ड के पुनर्गठन और नेतृत्व बदलाव पर चर्चा हो सकती है। फिलहाल बायजू के बोर्ड में बायजू रवींद्रन, उनके भाई रीजू रवींद्रन और पत्नी दिव्या गोकुलनाथ शामिल हैं।

जानकारी के मुताबिक जिन निवेशकों ने EGM बुलाने की माँग की है, उनमें Prosus, General Atlantic, Peak XV, Chan Zuckerberg Initiative, Owl Ventures और Sofina जैसे बड़े नाम शामिल हैं।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.