माउंट मेरापी ज्वालामुखी फटा, 11 पर्वतारोहियों की मौत, कई लापता, देखें वीडियो!

  • इंडोनेशिया स्थित माउंट मेरापी ज्वालामुखी में विस्फोट से 11 पर्वतारोहियों की हुई मौत
  • 3 पर्वतारोही ज्वालामुखी के ही नजदीक जीवित मिले, कुल 75 लोगों की मौजूदगी की खबर
mount-merapi-volcano-eruption-11-hikers-found-dead-in-indonesia

Mount Merapi Volcano Eruption: इंडोनेशिया के प्रसिद्ध माउंट मेरापी ज्वालामुखी में अचानक हुए विस्फोट के चलते 11 लोगों की मौत की खबर सामने आई है। साथ ही अभी भी कई लोगों के लापता होने की बात भी कही जा रही है। बता दें, पश्चिमी सुमात्रा स्थित माउंट मेरापी ज्वालामुखी फटने की यह घटना रविवार ( 3 दिसंबर) को हुई।

मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से सामने आई जानकारी के मुताबिक, माउंट मेरापी ज्वालामुखी रविवार को स्थानीय समयानुसार दोपहर 2:54 बजे अचानक फटा। अक्सर सुर्खियों में रहने वाले इस ज्वालामुखी में हुआ यह नया विस्फोट इतना शक्तिशालीथा कि आसमान में लगभग तीन किलोमीटर तक राख का गुबार देखे गए।

घटना स्थल पर राहत बचाव का काम करने वाली टीम के अधिकारियों द्वारा साझा की गई जानकारी के अनुसार, 3 पर्वतारोही ज्वालामुखी के ही नजदीक जीवित मिले, उन्हें सुरक्षित स्थान पर पहुँचा दिया गया है। लेकिन अधिकारियों का कहना है कि रविवार को जब यह ज्वालामुखी फटा तो उस वक्त इस इलाके में लगभग 75 लोग मौजूद थे। ऐसे में अन्य लोगों की तलाश की जा रही है।

Mount Merapi Volcano Eruption – Watch Here!

माउंट मेरापी ज्वालामुखी में हुए विस्फोट के वीडियो और आसपास के इलाकों पर पड़ने वाले प्रभाव की तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं। आप भी कुछ वीडियो यहाँ देख सकते हैं;

पडांग (Padang) सर्च एंड रेस्क्यू एजेंसी के प्रमुख अब्दुल मलिक की ओर से खुद यह जानकारी दी गई है कि विस्फोट वाले दिन कुल 75 पर्वतारोही माउंट मेरापी पर मौजूद थे। लेकिन ज्वालामुखी विस्फोट इतना भयानक था कि आसपास का पूरा इलाका काली-सफेद राख से मानों ढक सा गया। शायद यही वजह है कि कई पर्वतारोही लापता बताए जा रहे हैं, और तलाशनी अभियान भी मुश्किल हो रहा है।

खाली करवाया गया आसपास का इलाका

रिपोर्ट्स के मुताबिक, फिलहाल माउंट मेरापी ज्वालामुखी में विस्फोट वाली जगह के नजदीक मौजूद चढ़ाई के रास्तों को बंद कर दिया गया है। साथ ही आसपास के कई किलोमीटर तक जितनें भी गाँव मौजूद हैं, उन्हें खाली करवा लिया गया है।

See Also
myanmar-war-increased-tension-in-india

क्या है आशंका

असल में यह एतिहात इसलिए बरते जा रहे हैं क्योंकि विस्फोट के बाद ज्वालामुखी से लावा के निकलने और आसपास के क्षेत्रों को प्रभावित करने की आशंका है। वैसे माउंट मेरापी में हुए विस्फोट के चलते 3,000 मीटर दूर तक फैली राख की वजह से पहले ही लोगों से चश्में पहनने की अपील की गई है।

क्यों खतरनाक है माउंट मेरापी?

वासी तो प्रशांत महासागर के तथाकथित “रिंग ऑफ फायर” पर स्थित होने के कारण इंडोनेशिया में तमाम ज्वालामुखी पाए जाते हैं। आँकड़ो की बात करें तो फिलहाल इंडोनेशिया में सक्रिय ज्वालामुखी की कुल संख्या 120 तक आंकी जाती है।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

इनमें से माउंट मेरापी एक प्रमुख ज्वालामुखी के रूप में देखा जाता रह है, क्योंकि यह अक्सर विस्फोट आदि के चलते सुर्खियों में बना रहता है। इस साल की शुरुआत से ही इसमें हलचल की बात सामने आई थी, लेकिन अभी तक इससे कोई खास नुकसान नहीं हुआ था।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.