Now Reading
सिलिकॉन वैली बैंक (SVB) को अमेरिकी नियामक ने किया बंद, क्या भारतीय स्टार्टअप्स में पड़ेगा असर?

सिलिकॉन वैली बैंक (SVB) को अमेरिकी नियामक ने किया बंद, क्या भारतीय स्टार्टअप्स में पड़ेगा असर?

first-citizens-bank-buys-silicon-valley-bank

Silicon Valley Bank Collapse: अमेरिका एक बार फिर एक बड़े बैंकिंग संकट का गवाह बना है। और इस बार वजह बना है अमेरिका के प्रमुख बैंकों में से एक – ‘सिलिकॉन वैली बैंक’ (SVB)। अमेरिकी रेगुलेटर ने ‘सिलिकॉन वैली बैंक’ को बंद करने का आदेश जारी कर दिया है।

असल में अमेरिका का यह 16वाँ सबसे बड़ा बैंक दिवालिया हो गया है। बैंक के वित्तीय हालातों को देखते हुए,  कैलिफोर्निया के डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल प्रोटेक्शन एंड इनोवेशल की ओर से इसे बंद करने का आदेश दिया गया है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, फिलहाल बैंक के पास $210 बिलियन की कुल परिसंपत्ति अनुमानित है। लेकिन पिछले कुछ समय बैंक की वित्तीय हालत अस्थिर बनी हुई थी। बीतें हफ्तो में, अमेरिका आधारित इस सिलिकॉन वैली बैंक (SVB) के शेयरों में 60% तक की भारी गिरावट दर्ज की गई, जो लगभग 35 वर्षों में सबसे बड़ी गिरावट के रूप में देखी जा रही है। इसके चलते लगभग $80 बिलियन से अधिक का नुकसान होने का अनुमान है।

Silicon Valley Bank Collapse – भारत में क्या होगा असर? 

लेकिन गौर करने वाली बात ये है कि सिलिकॉन वैली बैंक (SVB) में ताला लगने का असर सिर्फ अमेरिका ही नहीं, बल्कि दुनियाभर के देशों में दिखाई देगा, जिसमें भारत भी शामिल है। 

असल में Silicon Valley Bank (SVB) Financial Group अमेरिका समेत भारत व दुनिया भर के अन्य देशों के स्टार्टअप्स में निवेश करने के लिए जाना जाता रहा है। कई नामी भारतीय स्टार्टअप्स में सिलिकॉन वैली बैंक का पैसा लगा हुआ है। जाहिर है ऐसे में भारत में भी निवेशकों और स्टार्टअप्स की चिंता बढ़ने लगी है। 

Silicon Valley Bank

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पिछले साल ही भारतीय स्टार्टअप्स ने सिलिकॉन वैली बैंक से लगभग $150 मिलियन की राशि हासिल की थी।

क्यों हुई ऐसी हालत?

बताया जाता है कि सिलिकॉन वैली बैंक (SVB) हमेशा से वेंचर कैपिटल कंपनियों और टेक स्टार्टअप्स से अधिक जुड़ा रहा है। लेकिन पिछले 18 महीनों में अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा लगातार ब्याज दरों को बढ़ाने के चलते निवेशक कुछ ज्यादा ही सतर्क हो गए।

और टेक सेक्टर के बड़े-बड़े स्टार्टअप्स व फंडिंग विंटर जैसे हालातों को देखते हुए, बैंक के कई क्लाइंट्स ने लिक्विडिटी संबंधित जरूरतों को पूरा करने के लिए पैसे निकालने शुरू कर दिए। इसके चलते बैंक पर बूरा प्रभाव पड़नें लगा और इसके वित्तीय हालातों पर सवाल उठने लगे।

नौबत ये आ गई कि इस बैंक पर मालिकाना हक रखने वाले SVB Financial Group के शेयरों में लगभग 60 से 70 प्रतिशत तक की गिरावट देखने को मिली और इसके बाद Nasdaq पर इसके शेयरों की ट्रेडिंग रोक दी गई।

आगे का कदम?

आपको बता दें, ‘फेडरल डिपॉजिट इंश्योरेंस कॉपोरेशन’ को SVB बैंक का रिसिवर नियुक्त करते हुए, ग्राहकों के पैसों को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। साथ ही एक ​टीम के गठन की भी खबर सामने आई है।

2008 में भी बने थे ऐसे हालात

SVB के बंद होने के चलते बने हालातों को साल 2008 में Lehman Brothers की विफलता के बाद से अब तक का सबसे बड़ा बैंकिंग संकट माना जा रहा है। आपको शायद याद हो कि 2008 के आर्थिक संकट के दौरान Washington Mutual बैंक के डूबने के चलते भी ऐसा ही आर्थिक संकट खड़ा हो गया था।

क्या Elon Musk खरीदेंगे Silicon Valley Bank?

इन सब के बीच यह कयास लगाए जा रहे हैं कि ईलॉन मस्क (Elon Musk) अब सिलिकॉन वैली बैंक (SVB) को खरीद सकते हैं। लेकिन क्यों?

असल में हुआ ये कि Twitter पर Razer के सीईओ मिन-लियांग टैन ने एक पोस्ट करते हुए लिखा कि

“ट्विटर को सिलिकॉन वैली बैंक खरीद लेना चाहिए और इसे एक डिजिटल बैंक बना देना चाहिए।”

See Also
byjus-cfo-ajay-goel-quits-to-head-back-to-vedanta

इस पर ट्विटर के नए बॉस बने Elon Musk ने रिप्लाई करते हुए लिखा कि

“मैं इस विचार का स्वागत करता हूं।”

फिर क्या था इसके बाद से ही ऐसी खबरें आने लगी की Elon Musk शायद SVB बैंक को ख़रीदने में दिलचस्पी जाहिर कर सकते हैं।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.