Elon Musk की Starlink भारत में किफ़ायती क़ीमत पर करेगी सैटेलाइट इंटरनेट की पेशकश: रिपोर्ट

elon-musk-starlink-to-offer-cheaper-internet-rates-in-india-report

Starlink India to Offer Cheaper Internet: हाल ही में भारत में अपनी सैटेलाइट हाई-स्पीड ब्रॉडबैंड इंटरनेट सुविधा की पेशकश करने के मक़सद से एक सहायक कंपनी, Starlink Satellite Communications Private Limited (SSCPL) रजिस्टर करने वाली Starlink को लेकर अब एक और दिलचस्प ख़बर सामने आई है।

असल में एलोन मस्क (Elon Musk) द्वारा शुरू की गई SpaceX के मालिकाना हक़ वाली Starlink भारत में सस्ती दरों पर इंटरनेट सुविधा देने का मन बना रही है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

इसके लिए कंपनी Starlink India द्वारा अपनी इंटरनेट दरों में सब्सिडी देने का प्लान है। ज़ाहिर है कंपनी स्पष्ट रूप से भारतीय बाजार में अंतरराष्ट्रीय बाजार से कम कीमत पर अपनी सेवाएं देने जा रही है।

Elon Musk’s Starlink to offer cheaper internet rates in India: Report

वैसे भारत में Starlink ने अपनी इंटरनेट सेवाओं के लिए एक निश्चित जमा राशि के साथ प्री-बुकिंग मार्च 2021  से ही शुरू कर दी है, और काफ़ी लोग इसमें अपनी दिलचस्पी दिखा रहें हैं।

प्री-बुकिंग के लिए $99 (लगभग ₹7,300) की पेमेंट करनी पड़ रही है। कंपनी के मुताबिक़ ये पैसा उन Starlink उपकरणों को यूज़र्स के पते पर इंस्टॉल करने के लिए लिया जा रहा है, जिनकी मदद से वह इसकी इंटरनेट सेवा का लाभ उठा सकेंगें।

Starlink का दावा है कि उसे भारत से 5,000 से अधिक प्री-ऑर्डर मिल चुके हैं और प्रति ग्राहक $99 (₹7,300) की राशि के साथ शुरुआती दिनों में कंपनी 50-150 Mbps डेटा स्पीड प्रदान करने का दावा करती है।

इस बीच Starlink India देश के ग्रामीण क्षेत्रों पर मुख्यतः ध्यान केंद्रित करते हुए, अपनी ब्रॉडबैंड सेवाओं का विस्तार करने के लिए भारत में दूरसंचार कंपनियों के साथ साझेदरी आदि की संभावनाएं भी तलाश रही है।

सस्ती दरों और सब्सिडी को लेकर ये तमाम अटकलें Starlink India के निदेशक, संजय भार्गव (Sanjay Bhargava) ने द्वारा हाल ही में एक समाचार प्रकाशन को दिए एक बयान के बाद से ही लगने लगीं हैं, जिसमें उन्होंने कहा है कि यह सेवा महंगी है और इसकी पूरी लागत ग्राहकों पर डालने से ग्राहकों के लिए इसका इस्तेमाल करना मुश्किल हो जाएगा।

भार्गव ने कहा कि Starlink को ऐसी सेवाओं की पेशकश करने की आवश्यकता होगी जो मूल्य निर्धारण के नज़रिए से भी उचित हो। उनकी मानें तो कंपनी शुरू में देश के आंतरिक क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगी जहां इंटरनेट की सुविधा तक पहुंचना आज भी मुश्किल बना हुआ है।

spacex-india-launch-sets-up-a-subsidiary

See Also
microsoft-bing-to-be-default-search-engine-for-chatgpt

पिछले महीने पोस्ट किए गए एक वीडियो में, भार्गव ने भारत में ग्रामीण समुदायों को इस इंटरनेट सुविधा का इस्तेमाल करने के लिए आवश्यक हार्डवेयर किट प्रदान करके कंपनी की इस सेवा का विस्तार करने की चरणबद्ध रूपरेखा पेश की थी।

कंपनी का इरादा, शुरुआत में भारत में कम से कम दो लाख उपकरणों को संचालित करने का है, जिसमें से लगभग 1.6 लाख उपकरणों को ग्रामीण इलाक़ों में तैनात किए जाने का प्लान है।

क्या है स्टारलिंक Starlink?

Starlink असल में लो-अर्थ ऑर्बिटर (2,000 किमी की ऊँचाई), मतलब कि पृथ्वी की निचली कक्षा में तैनात किया गया कई सारे छोटे-छोटे सैटेलाइट्स (क़रीब 260 किग्रा वजन वाले) का एक नेटवर्क है, जिसके ज़रिए इंटरनेट सेवा प्रदान की जाती है।

किसी भी सामान्य सैटेलाइट के मुकाबले Starlink नेट्वर्क में शामिल सैटेलाइट्स पृथ्वी की सतह से 60 गुना पास होते हैं। फ़िलहाल बीटा टेस्टिंग के दौरान Starlink 50-150 Mbps के बीच इंटरनेट स्पीड प्रदान कर रहा है। लेकिन Elon Musk ने ये ख़ुलासा किया था कि कंपनी साल 2021 के अंत तक Starlink Internet Speed को क़रीब 300 Mbps करने को लेकर काम कर रही है।

भारत में Starlink इंटरनेट के ये हैं प्रतिद्वंदी

SpaceX की ये सैटेलाइट इंटरनेट सेवा सीधे तौर पर भारत में अन्य सैटेलाइट कम्यूनिकेशन (Satcom) सेवाओं से टक्कर लेगी, जिसमें Bharti Group और ब्रिटेन सरकार के मालिकाना हक़ वाली OneWeb (जो 2022 के मध्य तक भारत में लॉन्च होने का लक्ष्य लिए चल रही है) और Amazon का Project Kuiper आदि शामिल है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.