Now Reading
लीक हुए Facebook डेटा के चलते सामने आया कि मार्क जुकरबर्ग भी करते हैं Signal ऐप इस्तेमाल

लीक हुए Facebook डेटा के चलते सामने आया कि मार्क जुकरबर्ग भी करते हैं Signal ऐप इस्तेमाल

leaked-facebook-data-reveals-that-mark-zuckerberg-uses-signal-app

हाल में हुए क़रीब 53.3 करोड़ यूज़र्स (जिनमें क़रीब 60 लाख भारतीय यूज़र्स भी शामिल हैं) के Facebook Data Leak में सिक्योरिटी रिसर्चर के दावे के मुताबिक़ Facebook सीईओ Mark Zuckerberg का भी पर्सनल डेटा शामिल था। और अब ऐसी जानकारी भी सामने आई है कि लीक हुए डेटा से ये पता लगता है कि Mark Zuckerberg अपने प्रतिद्वंदी मैसेजिंग ऐप Signal का इस्तेमाल करते हैं।

जी हाँ, सही सुना आपने! असल में तमाम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक Facebook यूज़र्स के लीक हुए डेटा में Mark Zuckerberg का फोन नंबर, फेसबुक यूजर आईडी, लोकेशन, शादी की डिटेल्स और जन्मतिथि जैसी पर्सनल डिटेल्स भी शामिल हैं।

और अब लीक डेटा के आधार पर Twitter पर सुरक्षा विशेषज्ञ Dave Walker ने लिखा;

“हाल ही की लीक घटना में एक और मोड़ आया है, असल में Mark Zuckerberg एक चैट ऐप का उपयोग करके अपनी प्राइवेसी सुरक्षित करते हैं, जो एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन है लेकिन facebook कंपनी की नहीं है।”

इसके आगे दूसरे Tweet में Dave ने Zuckerberg के लीक हुए फोन नंबर के स्क्रीनशॉट के साथ पोस्ट करते हुए लिखा कि Faebook लीक डेटा में शामिल Mark Zuckerberg के नंबर से पता चलता है कि वह Signal मैसेजिंग ऐप पर हैं।

असल में साइबर क्राइम इंटेलिजेंस फर्म Hudson Rock के सीटीओ, Alon Gal ने शनिवार को इस लीक का ढूँढा और Twitter के ज़रिए इसकी सूचना सार्वजनिक की।

https://twitter.com/UnderTheBreach/status/1378314424239460352

कहा ये जा रहा है कि ये डेटा काफ़ी समय पहले Facebook प्लेटफ़ॉर्म से लीक हुआ था। वहीं Alon Gal के अनुसार 53.3 करोड़ Facebook यूजर्स के डाटा का फायदा उठाकर हैकर्स सोशल इंजीनियरिंग अटैक्स जैसी चीज़ों को भी अंजाम दे सकते हैं।

See Also
instagram-nighttime-nudges-feature

Facebook ने की Data Leak की पुष्टि

इस बीच यह भी सामने आया है कि Facebook ने The Record को डेटा लीक की खबर की पुष्टि की है। Facebook के प्रवक्ता ने शनिवार देर रात की रिपोर्ट में कहा,

“यह पुराना डेटा है जो पहले 2019 में सामने आया था। हमने अगस्त 2019 में इस मुद्दे को ढूँढा था और इसको फ़िक्स कर दिया था।”

लेकिन इन सब के बीच अब ख़ुद Facebook के सीईओ का Signal ऐप इस्तेमाल करना वाक़ई एक बड़ी ख़बर है, ख़ासकर भारत के लिए।

असल में भारत में WhatsApp द्वारा लाई गई नई प्रस्तावित प्राइवेसी पॉलिसी के बाद से ही लोगों का विश्वास Facebook के प्लेटफ़ॉर्म से खोता जा रहा है और यहाँ तक कि WhatsApp को इसके चलते देश में कई क़ानूनी चुनौतियों का भी सामना करना पड़ रहा है।

इतना ही नहीं बल्कि इसके बाद से ही देश भर में लोगों ने Telegram और Signal ऐप जैसे विकल्पों की ओर रुझान किया है।

लेकिन अब Mark Zuckerberg को लेकर इस कथित खुलासे के बाद अब भला इंटरनेट जगत में सोशल मीडिया दिग्गज़ की साख पर क्या असर पड़ता है, ये देखने वाला विषय है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.