लाइव लर्निंग प्लेटफॉर्म Growth School ने Sequoia और Owl Ventures से हासिल किया लगभग ₹38 करोड़ का निवेश

funding-alert-live-learning-startup-growth-school-raises-rs-38-cr

जैसे-जैसे भारत के एडटेक क्षेत्र बढ़ रहा है, इसमें नए विचारों और इनोवेशंस को भी भरपूर जगह मिलती नज़र आ रही है, जिस वजह से इसका स्वरूप भी बदल रहा है। और अब ऐसा ही एक नया उदाहरण सामने आया है Growth School के रूप में।

असल में कम्यूनिटी आधारित लाइव लर्निंग प्लेटफॉर्म Growth School ने अपने नए सीड फ़ंडिंग राउंड में के तहत $5 मिलियन (लगभग ₹38 करोड़) हासिल किए हैं।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

दिलचस्प ये है कि कंपनी को ये निवेश अमेरिकी दिग्गज़ निवेशक Sequoia Capital India और Owl Ventures के नेतृत्व वाले दौर में मिला है।

ग़ौर करने वाली बात ये भी है कि कंपनी के इस निवेश दौर में 70 से अधिक एंजेल निवेशकों ने भी अपनी भागीदारी दर्ज करवाई है, जिसमें कुणाल शाह, निखिल कामथ, रितेश अग्रवाल और तन्मय भट जैसे दिग्गज़ नाम शुमार रहे।

बेंगलुरु आधारित Growth School की शुरुआत साल 2020 में छह सदस्यीय टीम ने साथ आकर एक बूटस्ट्रैप्ड कंपनी के रूप में की थी। कंपनी ख़ुद को ‘यूनिवर्सिटी-ऑन-द-क्लाउड’ के रूप में परिभाषित करती है।

इसके तहत Growth School कुछ टॉप इंडस्ट्री विशेषज्ञों के साथ साझेदार करते हुए छात्रों या सीखने वालों लोगों के लिए बेहतरीन व्यक्तिगत और व्यावसायिक विकास से संबंधित कोर्स की पेशकश करता है।

growth school

कंपनी अपने प्लेटफ़ॉर्म पर Google, Facebook, Amazon, Microsoft, Swiggy आदि जैसी दिग्गज़ कंपनियों के कुछ टॉप सलाहकारों को जोड़ती है, जो वास्तविक और इंडस्ट्री की व्यावहारिक चीजें सिखाते हैं, जिन्हें नौकरी चाहने वाले लोग वास्तविक दुनिया में इस्तेमाल करते हुए अपनी क्षमताओं का विकास कर सकते हैं।

इसके तहत इसके सभी प्रोग्राम और वर्कशॉप इंडस्ट्री विशेषज्ञों द्वारा मिलकर सह-रूप से निर्मित की जाती हैं, ताकि किसी चीज़ को लेकर एक व्यापाक अनुभव साझा किया जा सके।

फ़िलहाल बात करें इस नए निवेश की तो कंपनी के अनुसार इसका इस्तेमाल टीम का विस्तार करने और नए बाजारों में प्रवेश करने के अलावा एक मजबूत तकनीकी प्लेटफ़ॉर्म बनाने और शिक्षकों या ‘यूनिवर्सिटी-ऑन-द-क्लाउड’ के लिए मेटावर्स की संभावनाओं को तलाशने के लिए करने की योजना है।

कंपनी के अनुसार अब तक क़रीब 2 लाख उपयोगकर्ताओं ने Growth School कोर्स का लाभ उठाया है, जो पर्फ़ॉर्मन्स मार्केटिंग, एक फ्रीलांसर कैसे बनें?, अपना एनएफटी (NFT) कैसे बनाएं और बेचें?, क्रिप्टो में निवेश कैसे करें?, D2C व्यवसाय कैसे शुरू करें? जैसे तमाम विषयों पर आधारित कोर्स रहें हैं।

See Also
byjus-aakash-insitute-appoints-deepak-mehrotra-as-new-ceo

प्लेटफ़ॉर्म पर इन तमाम कोर्स या प्रोग्राम की फीस इसके विषय और अवधि के आधार पर ₹10,000 से ₹35,000 तक होती है, जो ‘Pay-Per-Programme’ के आधार पर ली जाती है।

Growth School के सह-संस्थापक, वैभव सिसिन्टी (Vaibhav Sisinty) ने पीटीआई को बताया;

“upGrad जैसे बड़े प्रतिद्वंद्वियों से अलग, हमारा प्लेटफॉर्म डिग्री या जॉब प्लेसमेंट की पेशकश नहीं करता है।
लेकिन इतने कम फीस वाले कोर्स आदि के बाद भी कंपनी मुनाफे में है और कर्ज मुक्त है।”

वहीं Owl Ventures की ओर से कृति बंसल (Kriti Bansal) ने कहा;

“हमारा मानना ​​है कि Growth School में बुनियादी रूप से बड़े बदलाव लाने की क्षमता है कि आख़िर कैसे लोग अपने व्यक्तिगत और पेशेवर जीवन के लिए विभिन्न कैशलों को सीखते हुए आगे बढ़ सकें। ऐसे तमाम विषयों पर प्रमुख इंडस्ट्री विशेषज्ञों के साथ कंपनी अप-स्किलिंग क्षेत्र में एक वैश्विक मंच का निर्माण कर रही है।”

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.