Reliance Jio की परेशानी बढ़ी, किसानों ने पंजाब में 1,300 से अधिक 4G टावरों की काटी बिजली

भारत भर में किसानों का आंदोलन लगातार तेज होता जा रहा है। और इसके साथ ही जैसा कि किसानों से पहले ही Jio आदि कंपनियों के बहिष्कार का ऐलान कर दिया था, अब इसको लेकर भी विवाद बढ़ता नज़र आ रहा है।

दरसल तमाम रिपोर्टों के अनुसार प्रदर्शनकारी किसानों ने पंजाब राज्य में 1,300 से 1,400 टेलीकॉम ट्रांसमिशन टावरों की बिजली काट दी है और मामला यहाँ तक बढ़ गया है कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ऐसा न करने की अपील की है।

दरसल विवादास्पद कृषि सुधार बिल को लेकर किसानों को पंजाब में सरकार और Reliance की कथित मिलीभगत का भारी विरोध हो रहा है और ऐसे में कुछ प्रदर्शनकारियों ने अब ये तरीक़ा अपनाया है।

आपको बता दें एक रिपोर्ट के मुताबिक़ पंजाब में कुल 9,000 Jio टेलीकॉम टावर हैं। दरसल किसानों ने कृषि बिलों के साथ ही सरकार के साथ कथित मिलीभगत को लेकर Reliance Industires और Adani Group के प्रोडक्ट के बहिष्कार का ऐलान किया हुआ है।

रिपोर्ट के अनुसार पंजाब के किसानों ने पिछले कुछ हफ्तों में नवांशहर, फिरोजपुर, मनसा, बरनाला, फाजिल्का, पटियाला और मोगा जिलों सहित राज्य के कई हिस्सों में Jio के मोबाइल टावरों की बिजली की आपूर्ति को रोक दिया है

इसको लेकर Jio ने भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) को लिखा था कि वे इन हमलों को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाए। इसके साथ ही कंपनी ने Vodafone Idea और Airtel पर भी इसको लेकर कुछ आरोप लगाए हैं।

See Also
5g-speedtest-global-index-india-ranking

इस बेच TRAI ने पंजाब सरकार से इस मामले को लेकर उचित क़दम उठाने की अपील की है और यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया था कि विरोध प्रदर्शन की आड़ में इस तरह की गैरकानूनी गतिविधियां न की जाएं।

इसको लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा;

“राज्य के कई हिस्सों में किसानों द्वारा मोबाइल टावरों की बिजली की आपूर्ति को रोकने के कारण दूरसंचार सेवाओं पर जबरदस्त व्यवधान पड़ा है जिससे छात्रों की पढ़ाई आदि में भी दिक्कत हो रही है, जो पूरी तरह से आजकल ऑनलाइन शिक्षा पर निर्भर हैं। इसके साथ ही महामारी के समय में सेवाओं को ऐसे बाधित करना उचित नहीं है।”

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.