Now Reading
OnePlus ने किया हाल ही में हुए Data Breach को ठीक करने का ऐलान

OnePlus ने किया हाल ही में हुए Data Breach को ठीक करने का ऐलान

oneplus_9_series_leak_image

डेटा ब्रीच का सिलसिला फ़िलहाल दुनिया की बड़ी बड़ी ब्रांड्स का दामन छोड़ता नज़र नहीं आ रहा है। और अब इसका शिकार OnePlus भी हो गया है। 

जी हाँ। दरसल OnePlus में हाल ही में Payment संबंधी डेटा ब्रीच की घटना सामने आई थी। जिसमें सबसे अधिक भारतीय उपयोगकर्ताओं के प्रभावित होने की बात कही जा रही थी। 

हालाँकि अब OnePlus का दावा है कि कंपनी ने इस डेटा ब्रीच पर अंकुश लगा दिया है, जो उपयोगकर्ता डेटा तक अनधिकृत पहुंच प्रदान कर रहा था।

दरसल भारत में सबसे अधिक उपयोगकर्ताओं के प्रभावित होने की बात सामने आने से OnePlus का तेजी से क़दम उठाते हुए इसको ठीक करना भी लाजमी है, क्यूंकि देश में OnePlus Smartphones को प्रीमियम स्मार्टफोन सेगमेंट में जगह दी जाती है, जिसकी देश में काफी मांग भी है।

और शायद इसलिए चीनी स्मार्टफोन निर्माता ब्रांड OnePlus ने अब यह आश्वासन दिया कि इस ब्रीच से अब सभी उपयोगकर्ताओं का संबंधित डेटा सुरक्षित है और अब चीज़ों को ठीक किया जा चुका है।

कंपनी ने आज एक बयान जारी करते हुए कहा,

“OnePlus ने प्रभावित उपयोगकर्ताओं को पहचान कर उनके डेटा को सुरक्षित करने का काम किया है, असल में कुछ उपयोगकर्ताओं के कुछ ऑर्डर की जानकारी एक अनधिकृत पार्टी द्वारा एक्सेस की गई थी।” 

“इसके साथ ही हमनें अब हैकर्स को रोकने और सुरक्षा उपायों को मजबूत करने के लिए तत्काल हर जरूरी कदम उठाए हैं। साथ ही इस बात को सार्वजनिक करने से पहले हमने अपने प्रभावित उपयोगकर्ताओं को ईमेल द्वारा भी इसकी सूचना दी है।” 

See Also
boult-crown-smartwatch-launched-in-india

वहीँ इकोनॉमिक टाइम्स को दिए जवाब में OnePlus India के महाप्रबंधक, विकास अग्रवाल ने कहा;

“कंपनी सिंगापुर से अपने भारतीय उपयोगकर्ताओं के डेटा को Amazon Web Services में शिफ्ट करने की प्रक्रिया का आगाज़ कर चुकी है।” 

आपको बता दें कंपनी के इस कदम को काफी हद तक भारत सरकार की नीति का पालन करने के लिए उठाए गये कदम के रूप में देखा जा रहा है, जिसके तहत सभी ब्रांडों को अपने भारतीय उपयोगकर्ताओं के डेटा को स्थानीय रूप से स्थित सर्वर पर जमा करने की इजाज़त होगी।

इस बीच यह बता दें कि 2018 के बाद यह दूसरी बार है जब OnePlus में किसी प्रकार के डेटा ब्रीच की घटना सामने आई है। असल में पिछले साल यह बताया गया था कि 40,000 से अधिक ग्राहकों के बैंक कार्ड संबंधी जानकारियां प्रभावित हुई थीं।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.