Now Reading
हाथरस भगदड़ हादसे के बाद पहली बार सामने आए ‘भोला बाबा’, कहीं ये तमाम बातें?

हाथरस भगदड़ हादसे के बाद पहली बार सामने आए ‘भोला बाबा’, कहीं ये तमाम बातें?

  • हाथरस हादसे के बाद पहली बार सामने आया सूरजपाल,
  • 2 जुलाई की भगदड़ को लेकर कही ये तमाम बातें?
bhola-baba-first-appearance-and-statment-after-hathras-stampede

Bhola Baba First Appearance and Statement After Hathras Stampede: उत्तर प्रदेश के हाथरस में हाल ही में हुई भगदड़ की घटना ने पूरे राज्य को हिला कर रख दिया है। इस हादसे में 123 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई, जबकि कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए अभी तक आयोजन समिति के कुछ सदस्यों को गिरफ्तार किया है। वहीं हादसे के बाद से ही सूरजपाल उर्फ ​​’भोला बाबा’ गायब बताए जा रहे थे।

लेकिन अब हादसे के बाद पहली बार सूरजपाल उर्फ ‘भोले बाबा’ ने वीडियो के माध्यम से बयान दिया है। अपने बयान में उन्होंने कहा है कि वह 2 जुलाई की घटना के बाद बहुत ही व्यथित हैं। प्रभु सभी को इस दुख की घड़ी से उभरने की शक्ति दे। साथ ही इस दौरान बाबा ने शासन और प्रशासन पर भरोसा बनाए रखने की बात कहे तो उप्द्रव्कारियोन को बख्शे न जाने जैसी चीजें भी कहीं।

Bhola Baba First Appearance and Statement

अपने बयान में वह कहते नजर आ रहे हैं;

“हम 2 जुलाई की घटना के बाद बहुत ही व्यथित हैं। प्रभु हमें इस दुख की घड़ी से उभरने की शक्ति दे। सभी शासन और प्रशासन पर भरोसा बनाए रखें। हमें विश्वास है कि जो भी उपद्रवकारी हैं, उनको बख्शा नहीं जाएगा। मैंने अपने वकील ए.पी. सिंह के माध्यम से समिति के सदस्यों से अनुरोध किया है कि वे शोक संतप्त परिवारों और घायलों के साथ खड़े रहें और जीवन भर उनकी मदद करें।”

बता दें, इस मामले में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आयोजन समिति के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपी देव प्रकाश मधुकर, जो हादसे के बाद फरार था, को यूपी एसटीएफ ने शुक्रवार की देर रात गिरफ्तार कर लिया। मधुकर पर एक लाख का इनाम घोषित किया गया था।

See Also
Women-Arrested-For-not-Wearing-Hijab-Properly

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

उत्तर प्रदेश सरकार ने इस मामले की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित किया है। एसआईटी के अधिकारी अनुपम कुलश्रेष्ठ ने जानकारी दी कि अब तक 90 बयान दर्ज किए जा चुके हैं। तीन सदस्यीय इस विशेष जांच दल द्वारा हादसे पर विस्तृत रिपोर्ट तैयार की जा रही है। बता दें, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (आगरा जोन) कुलश्रेष्ठ ही तीन सदस्यीय विशेष जांच दल (एसआईटी) का नेतृत्व कर रहे हैं।

वहीं उत्तर प्रदेश सरकार की ओर स  हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की जा चूक है। सरकार की ओर से एक समिति गठित की गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से भी दोषियों को क़ानून रूप से उचित सजा देने की बात कही गई थी। वहीं कल राहुल गांधी ने भी हाथरस में पीड़ित परिवारों से मुलाक़ात की और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से दिल खोल कर मुआवजा देने की विनती की है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.