Now Reading
Jobs: रेलवे में असिस्टेंट लोको पायलट की बंफर भर्ती, अब 18799 पदों पर होंगी नियुक्तियाँ? जानें यहाँ!

Jobs: रेलवे में असिस्टेंट लोको पायलट की बंफर भर्ती, अब 18799 पदों पर होंगी नियुक्तियाँ? जानें यहाँ!

  • भारतीय रेलवे ने 18799 सहायक लोको पायलट (ड्राइवर) की भर्ती के आदेश जारी किया.
  • ड्राइवर भर्ती प्रकिया को एक सप्ताह के अंतराल में पूरा किया जाएगा.
mumbai-local-train-services-hit-due-to-technical-issues-at-borivali

Loco pilot recruitment in railways: पश्चिम बंगाल में हुए रेल हादसे से सबक लेते हुए शायद अब रेल विभाग में होश में आया है, इस वजह रही है कि लोको पायलट के लिए रेलवे में पड़े सभी खाली पदों में भर्ती की बात कही गई है।

भारतीय रेलवे ने 18799 सहायक लोको पायलट (ड्राइवर) की भर्ती के आदेश जारी किया है, रेलवे ने इसके लिए सभी जोनल के रेलवे महाप्रबंधको को निर्देश दिया है, कि ड्राइवर भर्ती प्रकिया को एक सप्ताह के अंतराल में पूरा किया जाए।

भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी

भारत सरकार के रेल मंत्रालय ने हाल ही में एक अधिसूचना जारी की है। इस अधिसूचना में सहायक लोको पायलट रिक्तियों की संख्या बढ़ा दी गई है। भर्ती के लिए आदेश रेलवे बोर्ड के निदेशक विद्याधर शर्मा ने दिया है।

आपको बता दे पूर्व में, 5696 पदों पर सहायक लोको पायलट की भर्ती को 15 दिसंबर 2023 को मंजूरी की दी जा चुकी है। लेकिन अब रेल विभाग ने असिस्टेंट लोको पायलट की वैकेंसी 5696 से बढ़कर 18 हजार 799 कर दी है, रेलवे भर्ती बोर्ड एक सप्ताह के भीतर संशोधित विज्ञप्ति जारी करेगा।

ज्ञात हो, असिस्टेंट लोको पायलट बनने के लिए उम्मीदवारों का चयन तीन चरणों में किया जाएगा। इनमें कंप्यूटर आधारित टेस्ट (सीबीटी), कंप्यूटर आधारित एप्टीट्यूड टेस्ट (सीबीएटी) और मेडिकल परीक्षा (Loco pilot recruitment in railways) शामिल हैं।

See Also
Lok Sabha elections 2024 Giants are facing defeat

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

गौरतलब हो, रेलवे में कई बार हादसे की वजह लोको पायलट के अधिक समय तक काम करने की वजह भी सामने आई है, रेलवे में लोको पायलट (ड्राइवर) की अधिकतम ड्यूटी का समय 9 घंटा तय किया गया है परंतु रेल बोर्ड के पास पर्याप्त लोको पायलट न होने की वजह से कही बार उपलब्ध लोको पायलट को 10 से 12 घंटे तो कही लोको पायलट को ट्रेन में 12 से 16 घंटे ट्रेन में गुजारना पड़ता है। रेलवे के नए फैसले और नई भर्ती के आदेश के बाद सभी लोको पायलट ड्राइवर को अतिरिक्त समय काम करने से छुटकारा मिलेगा  साथ ही थकान जैसी वजहों से लोको पायलट की गलती से होने वाले हादसों में कमी आएगी।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.