Now Reading
Paytm Q4 Results: कंपनी का घाटा बढ़कर पहुँचा ₹551 करोड़, कमाई भी घटी

Paytm Q4 Results: कंपनी का घाटा बढ़कर पहुँचा ₹551 करोड़, कमाई भी घटी

  • Paytm का घाटा बढ़कर 551 करोड़ रुपये हुआ
  • पैरेंट कंपनी की आय में भी दर्ज की गई गिरावट
paytm-withdraws-general-insurance-business-registration

Paytm Q4 Results: कभी देश में फिनटेक का शीर्ष चेहरा रहे स्टार्टअप – Paytm ने चौथी तिमाही (Q4) के नतीजे जारी कर दिए हैं। वित्त वर्ष 2024 की मार्च तिमाही का रिजल्ट बुधवार को Paytm द्वारा पेश किया गया। इन आँकड़ो में कई ऐसी चीजें सामने आ रही हैं जो कंपनी के लिए नई चिंताएं पैदा कर सकती हैं।

असल में Paytm पर मालिकाना हक रखने वाली One97 Communications Ltd. का घाटा चौथी तिमाही में बढ़ गया है और यह आँकड़ा ₹551 करोड़ तक पहुँच गया है। गौर करने वाली बात ये है कि बीते साल इसी समान अवधि में कंपनी को कुल ₹169 करोड़ का घाटा हुआ था। इन नतीजों के पीछे का कारण कहीं न कहीं RBI के एक्शन को भी माना जा रहा है।

Paytm Q4 Results

कंपनी द्वारा दायर की गई एक्सचेंज फाइलिंग में बताया गया कि Paytm का तिमाही-दर-तिमाही आधार पर घाटा ₹221.7 करोड़ से बढ़कर ₹551 करोड़ हो गया है। दिलचस्प रूप से विशेषज्ञों ने अनुमान लगाया था कि कंपनी को इस तिमाही में लगभग ₹430 का घाटा हो सकता था, लेकिन असल आँकड़ा इससे भी आगे रहा।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

इस दौरान भारी नुक़सान के चलते Paytm  में नुकसान की वजकी आय में भी कमी दर्ज की गई। Paytm की पैरेंट कंपनी ने संबंधित तिमाही में आय के लिहाज से 20.5% की गिरावट देखनें को मिली, और यह आँकड़ा ₹2,267 करोड़ रहा। तिमाही-दर-तिमाही के लिहाज़ से देखें तो यह आय ₹2,851 करोड़ से गिरकर ₹2,267 करोड़ हो गई है।

लेकिन दिलचस्प बात यह भी है कि Paytm का वार्षिक राजस्व वित्त वर्ष 2023 में ₹7,990.3 करोड़ के मुक़ाबले बढ़कर वित्त वर्ष 2024 में ₹9,978 करोड़ हो गया है। मतलब हम कहे की वार्षिक राजस्व के लिहाज से लगभग 25% की बढोतरी हुई। वैसे चौथी तिमाही के दौरान कंपनी का EBITDA घाटा ₹157 करोड़ से बढ़कर ₹223 करोड़ रहा।

See Also
share-market-comeback-sensex-rises-1000-after-election-result

कंपनी ने यह भी खुलासा किया कि One97 Communications Ltd ने Paytm Payments Bank में ₹227 करोड़ के अपने पूरे निवेश को भी राइट डाउन कर दिया है।

RBI के एक्शन का असर

कभी फिनटेक स्टार्टअप का स्टार चेहरा रहे Paytm की वर्तमान हालात के पीछे एक बड़ा कारण RBI द्वारा की गई कार्यवाई भी है। हम जानते हैं कि Paytm पर 31 जनवरी को RBI की ओर से कुछ पाबंदियाँ लगाई गई थीं,। केंद्रीय बैंक ने Paytm के वॉलेट और बैंकिंग सेवाओं को बैन कर दिया था।

गौरतलब हो, आरबीआई की कार्रवाई के बाद 15 मार्च के बाद से Paytm App में पेटीएम यूजर पेटीएम पेमेंट्स बैंक अकाउंट से ट्रांजैक्शन, पेटीएम पेमेंट्स बैंक में यूपीआई या आईएमपीएस (IMPS) के जरिए कोई भी ट्रांजेक्शन, पेटीएम फास्टैग, पेटीएम पेमेंट्स बैंक में सैलरी आने वाली सेवाओं का लाभ नहीं उठा पा रहे थे।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.