मुंबई बिलबोर्ड हादसा: मरने वालों की संख्या हुई 14, करीब 70 घायल, मुआवजे का ऐलान

  • मुंबई में बिलबोर्ड गिरने से अबतक 75 से अधिक लोग घायल
  • NDRF की टीमें मौक़े पर, क्रेन की मदद से होर्डिंग उठाने की कोशिश
mumbai-billboard-collapse

Mumbai Billboard Collapse: महाराष्ट्र के मुंबई स्थित घाटकोपर इलाके में धूल भरी आंधी और बारिश के चलते एक पेट्रोल पंप पर लगा लगभग 100 फुट लंबा बिलबोर्ड विज्ञापन या होर्डिंग गिर गया। इस भयानक हादसे में अब तक 14 लोगों के मारे जाने की खबर है और 70 से अधिक लोग इसमें घायल भी हुए हैं। घायलों का इलाज चल रहा है। इस घटना के बाद से ही हड़कंप-सा मच गया है।

कथित रूप से यह बिलबोर्ड अवैध बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इलाके के पंतनगर पुलिस स्टेशन में इस कथित अवैध होर्डिंग को लगाने वाली कंपनी के मालिक के खिलाफ FIR भी दर्ज कर ली गई है। इसमें उनके खिलाफ IPC की धारा 304 – गैर इरादतन हत्या, 338  – दूसरों के जीवन या व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालकर गंभीर चोट पहुंचाना और 337 – जल्दबाजी या लापरवाही से काम करके किसी अन्य व्यक्ति को चोट पहुंचाना जैसी धाराओं में शिकायत दर्ज किए जाने की बात सामने आई है।

बता दें सोमवार की शाम को मुंबई में 20 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार वाला तूफ़ान देखनें को मिला। इसके साथ ही घाटकोपर समेत बांद्रा, कुर्ला, धारावी, दादर जैसे तमाम इलाक़ों में भारी बारिश भी हुई।

Mumbai Billboard Collapse

शुरुआती जानकारी में यह सामने आया है कि नगर निगम की ओर से बिलबोर्ड लगाने के लिए इजाजत नहीं थी, लेकिन कंपनी ने अवैध तरीके से यह लगाया। इस बीच घटनास्थल पर एनडीआरएफ की टीम भी पहुँची और राहत-बचाव कार्य को तेजी से पूरा करने की कोशिश की गई। गिरने वाले इस बिलबोर्ड का वजन लगभग 250 किलोग्राम बताया जा रहा है।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

NDRF की दो टीमें घटनास्थल पर सर्च ऑपरेशन के तहत तलाशी अभियान को व्यापक रूप से चला रही हैं, ताकि मलबे में दबे संभावित लोगों को बचाया जा सके। वहीं मौके पर पर अब क्रेन की मदद से होर्डिंग के गार्डर को उठाया जा रहा है।

इस बीच कुछ घायलों को उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी मिलने की सूचना भी सामने आई है। लेकिन यह दर्दनाक हादसा पूरे देश में चर्चा का विषय बन चुका है, कि आखिर कैसे एक अवैध होर्डिंग एक साथ इतने सारे लोगों की मौत का कारण बन गई।

राष्ट्रपति ने लिया संज्ञान

भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने भी इस होर्डिंग हादसे का संज्ञान लेते हुए, लोगों की मौत पर शोक व्यक्त किया। इसको लेकर उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा,

See Also
bihar-niyojit-teachers-exam-for-state-employee-status

“मुंबई के घाटकोपर क्षेत्र में होर्डिंग गिरने से अनेक लोगों के हताहत होने का समाचार अत्यंत दुखद है। मैं शोक संतप्त परिवारजनों के प्रति गहन संवेदना व्यक्त करती हूं। मैं घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करती हूं तथा राहत और बचाव कार्य की सफलता की कामना करती हूं।”

मुख्यमंत्री ने किया मुआवज़े का ऐलान

इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने खुद देर शाम को घाटकोपर में बिलबोर्ड हादसे वाली जगह का दौरा किया और शहर के अन्य तमाम बिलबोर्ड ढांचों के ऑडिट के भी आदेश दे दिए, कि क्या सभी होर्डिंग वैध हैं या नहीं?

साथ ही मुख्यमंत्री ने होर्डिंग गिरने के चलते जान गंवाने वाले हर एक व्यक्ति के परिजन को ₹5-5 लाख के मुआवज़े व आर्थिक मदद का ऐलान किया। इतना ही नहीं बल्कि हादसे में जो लोग घायल हुए हैं, उनके इलाज का खर्च भी राज्य सरकार उठाएगी।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.