Now Reading
BharatRohan को प्री-आईपीओ राउंड में मिला लगभग ₹19.2 करोड़ का निवेश

BharatRohan को प्री-आईपीओ राउंड में मिला लगभग ₹19.2 करोड़ का निवेश

  • BharatRohan ने लगभग ₹19.2 करोड़ का निवेश हासिल किया है।
  • निवेश Villgro Innovation, Caspian, RevX और Venture Garage से मिला है।
bharatrohan-raises-2-3-mn-funding-to-build-agri-drone

BharatRohan Raises $2.3 Mn Funding: बीतें कुछ सालों से व्यापक तौर पर निवेशक एग्री-टेक जगत से जुड़े स्टार्टअप्स पर दांव लगाते नजर आ रहे हैं। इसी क्रम में अब गुरुग्राम आधारित एग्रीटेक स्टार्टअप BharatRohan ने अपने प्री-आईपीओ राउंड के तहत $2.3 मिलियन (लगभग ₹19.2 करोड़) का निवेश हासिल किया है।

कंपनी को यह निवेश Villgro Innovation Foundation, Caspian, RevX और Venture Garage से मिला है। यह निवेश दौर इक्विटी और डेब्ट फंडिंग का मिश्रण था। इस नए निवेश के साथ स्टार्टअप द्वारा अब तक प्राप्त किए गए कुल निवेश का आँकड़ा ₹25 करोड़ हो गया है।

BharatRohan Raises $2.3 Mn Funding

कंपनी ने इस नए निवेश के इस्तेमाल की योजना का भी ज़िक्र किया है। जानकारी के अनुसार, यह एग्रीटेक स्टार्टअप सटीक खेती, फसल निगरानी और कीटनाशक अनुप्रयोगों के लिए खुद का एक ड्रोन विकसित करने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। कंपनी ये ड्रोन फ्रैंचाइज-आधारित मॉडल के माध्यम से ग्रामीण उद्यमियों को उपलब्ध कवाने का काम करेगी।

इतना ही नहीं बल्कि कंपनी ने अपने ड्रोन के लिए कॉम्पैक्ट हाइपरस्पेक्ट्रल और मल्टीस्पेक्ट्रल सेंसर्स को डिजाइन करने और विकसित करने की भी योजना बनाई है। इस बात में कोई शक नहीं है कि दुनिया भर के अन्य देशों की तरह भारत में भी ड्रोन तकनीक विभिन्न क्षेत्रों में तेजी से आज़माई जा रही है। इन क्षेत्रों में विनिर्माण, रक्षा, स्वास्थ्य आदि के साथ ही साथ कृषि भी प्रमुखता से शामिल है। जानकारों के अनुसार, ड्रोन तकनीक तमाम क्षेत्रों की तरह कृषि जगत में भी सकारात्मक परिवर्तन को बढ़ावा दे रही है।

साल 2016 में ऋषभ चौधरी और अमनदीप पंवार द्वारा शुरू की गई BharatRohan फिलहाल अपने उन्नत ड्रोन-आधारित निर्णय समर्थन प्रणाली (DSS) के साथ 5 राज्यों में लगभग 2,00,000 एकड़ की भूमि के तहत 50,000 किसानों को सेवाएँ दे रहा है। इस डीएसएस प्रणाली को कंपनी ने BharatRohan® CropAssure® का नाम दिया है।

See Also
jiocinema-to-livestream-bgmi-partners-with-krafton-india

इसके तहत सबसे पहले फेज में बीमारियों, कीटों और पोषण संबंधी कमियों की पहचान की जाती है। इसकी मदद से अवशेष मुक्त फसल की खेती के लिए एकीकृत कीट प्रबंधन रणनीतियों को सक्षम किया जाता है। कंपनी किसानों को तमाम सूचनाओं पर आधारित निर्णय लेने, संसाधन आवंटन को उसके अनुरूप करने और अप्रत्याशित मौसम पैटर्न के चलते फसल के लचीलेपन को अपनाने के लिए रियल-टाइम डेटा आधारित इन्सायट्स के साथ सशक्त बनाने का काम करती है।

BharatRohan आगामी साल 2025 तक लगभग 10 लाख एकड़ को कवर करते हुए 15 भारतीय राज्यों में अपना विस्तार करने की तैयारी में है। कंपनी ने पिछले वित्तीय वर्ष से शानदार वृद्धि दर्ज करते हुए, राजस्व में 3 गुना और लाभ में 200% की बढ़त दर्ज की है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.