Now Reading
Paytm UPI के इस्तेमाल में आई भारी कमी, 9% तक आ सिमटी हिस्सेदारी

Paytm UPI के इस्तेमाल में आई भारी कमी, 9% तक आ सिमटी हिस्सेदारी

  • Paytm को बड़ा झटका, UPI हिस्सेदारी में गिरावट
  • Payments Bank का संचालन बंद होने का असर?
paytm-layoffs-the-company-will-cut-5000-6300-jobs

Paytm UPI market share drops to 9%: भारत के दिग्गज फिनटेक ब्रांड Paytm पर अब Payments Bank के ऑपरेशन बंद होने का व्यापक असर दिखने लगा है।कंपनी अब देश के UPI बाजार में भी अपनी हिस्सेदारी खोती नजर आ रही है। बैंक का संचालन बंद होने के बाद ऐसा लगता है कि कई ग्राहकों ने Paytm UPI के इस्तेमाल से भी परहेज शुरू कर दिया है। ताजा आँकड़ो के अनुसार, Paytm की यूपीआई लेनदेन में हिस्सेदारी 9% तक आ गई है।

ये आँकड़े नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) के हवाले से सामने आए हैं। इसके मुताबिक, मार्च महीने में यूपीआई लेन-देन में Paytm की हिस्सेदारी कम होकर 9 प्रतिशत तक सिमट गई है। गौर करने वाली बात ये है कि एक महीने पहले यानी फरवरी में यूपीआई बाजार में कंपनी की हिस्सेदारी 11% की थी।

Paytm UPI Market Share

वहीं अगर बात इस साल की शुरुआत यानी जनवरी 2024 की करें तो Paytm के लिए कुल UPI ट्रांजेक्शंस के लिहाज से हिस्सेदारी 11.8% की थी। आपको बता दें, RBI ने 31 जनवरी को Paytm Payments Bank की अधिकतर सेवाओं को 29 फरवरी, 2024 (जिसे बाद में 15 मार्च तक के लिए बढ़ा दिया गया) के बाद बंद कर देने के निर्देश दिए थे। इसके पीछे Paytm Bank के खिलाफ एक सिस्टम ऑडिट रिपोर्ट और थर्ड पार्टी ऑडिटरों की कंपलायंस वेलीडेशन रिपोर्ट को आधार बनाये जाने की बात सामने आई थी।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

ध्यान देने वाली बात ये है कि UPI ट्रांजेक्शन के लिहाज से कभी भारत में Paytm का दबदबा हुआ करता था। साल 2018-19 के लगभग अकेले Paytm इस बाजार में 40% तक की हिस्सेदारी रखता था। लेकिन बाद में PhonePe और Google Pay जैसी कंपनियों के साथ प्रतिस्पर्धा में कंपनी की बाजार हिस्सेदारी कम होती चली गई।

क्या कहते हैं ताजा आँकड़े?

सिलसिलेवार ढंग से देखें तो जनवरी 2024 में Paytm ने कुल 1.4 बिलियन UPI पेमेंट्स प्रॉसेस किए थे। वहीं इसके अगले महीने यानी फरवरी में यही आँकड़ा 1.3 बिलियन हो गया था। लेकिन अब मार्च में भी इसमें कमी दर्ज की गई और कुल Paytm UPI ट्रांजेक्शन्स का आँकड़ा 1.2 बिलियन पर आ सिमट है।

See Also
byjus-aakash-insitute-appoints-deepak-mehrotra-as-new-ceo

जाहिर है अगर Paytm अपनी बाजार हिस्सेदारी खो रहा है तो इसके प्रतिस्पर्धी ऐप्स को सीधा फ़ायदा मिल रहा होगा, क्योंकि यूपीआई पेमेंट्स तो हर लिहाज से बढ़ ही रहे हैं। आँकड़ो की बात करें तो मार्च 2024 में Google Pay ने 6.3% की बढ़त दर्ज करते हुए कुल 5 बिलियन यूपीआई ट्रांजेक्शन प्रॉसेस किए। आपको बता दें Google Pay के लिए जनवरी 2024 में यही आँकड़ा 4.4 बिलियन का था और फ़रवरी में भी इसमें बढ़त दर्ज की गई और यह 4.7 बिलियन पर पहुँच गया था।

इसके साथ ही PhonePe ने भी बढ़ौतरी दर्ज की है। PhonePe ने मार्च 2024 में 5.2% की बढ़त के साथ कुल 6.5 बिलियन यूपीआई ट्रांजेक्शन प्रॉसेस किए और देश का टॉप ऐप बना। PhonePe ने फरवरी और जनवरी में क्रमश: 6 बिलियन और 5.7 बिलियन UPI पेमेंट्स दर्ज की थी।

Paytm Payments Bank के सीईओ का इस्तीफा

इन सब के बीच Paytm Payments Bank के एमडी और सीईओ सुरिंदर चावला ने भी अपना पद छोड़ते हुए इस्तीफा दे दिया है। चावला ने व्यक्तिगत कारणों और बेहतर करियर की संभावनाएं तलाशने के लिए यह कदम उठाया है। उन्होंने इस्तीफा ऐसे समय में दिया जब Paytm Payments Bank पर भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से सख्त कार्रवाई की गई हिया। Paytm की मूल कंपनी One97 Communications से शेयर बाजार को इसकी जानकारी दी।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.