Now Reading
Byju’s में बढ़ते विवाद के बीच, सरकार ने जांच को लेकर कही ये बात? जानें यहाँ!

Byju’s में बढ़ते विवाद के बीच, सरकार ने जांच को लेकर कही ये बात? जानें यहाँ!

  • Byju’s कंपनी के बही-खातों की जांच में तेजी लाने और रिपोर्ट सौंपने को कहा गया.
  • मंत्रालय अपने क्षेत्रीय कार्यालय से रिपोर्ट मिलने के बाद आगे की कार्रवाई तय करेगा.
byjus-cfo-ajay-goel-quits-to-head-back-to-vedanta

Amid Byju’s controversy, government orders investigation: कभी सबसे लोकप्रिय और नंबर वन कहें जाने वाले स्टार्टअप Byju’s के ऊपर मुसीबतों को पहाड़ ऐसा टूट पड़ा है, कि कंपनी उसके वजन के तले दबते चली जा रही है। कंपनी को लेकर एक और नई अपडेट के अनुसार कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय ने अपने अधिकारियों को कंपनी के बही-खातों की जांच में तेजी लाने और रिपोर्ट सौंपने को कहा है। इस बाबत एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को जानकारी दी है, हालांकि जांच संबंधित किसी भी बातों की जानकारी फिलहाल प्राप्त नहीं हुई है।

खबरों के अनुसार कंपनी कानून लागू करने वाला मंत्रालय अपने क्षेत्रीय कार्यालय से रिपोर्ट मिलने के बाद आगे की कार्रवाई तय करेगा। इस संबंध में कहा जा रहा है, मंत्रालय ने जुलाई, 2023 में हैदराबाद में क्षेत्रीय निदेशक के कार्यालय को बायजू मंच का संचालन करने वाली बेंगलुरु में (Amid Byju’s controversy, government orders investigation) पंजीकृत कंपनी थिंक एंड लर्न प्राइवेट लिमिटेड की जांच करने को कहा था।

हालांकि इस बात के अभी कोई जानकारी स्पष्ट नहीं है, कि मंत्रालय ने जुलाई, 2023 में एडटेक कंपनी के किन किन विषयों को लेकर जांच करने के आदेश दिए थे।

संस्थापक और सीईओ को बाहर करने की कवायद

इस बीच आपकों बता दे, Byju’s कंपनी के निवेशकों और प्रबंधकों के बीच भी सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। संकट में फंसी एडटेक कंपनी Byju’s के चार निवेशकों ने नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) में कंपनी के मैनेजमेंट के खिलाफ कुप्रबंधन, उत्पीड़न का आरोप लगाकर मुकदमा दायर किया है। (Byju’s investors reach NCLT) इसके साथ ही निवेशकों ने कंपनी के संस्थापक बायजू रवींद्रन को कंपनी चलाने के लिए अयोग्य ठहराने की मांग करते हुए कंपनी के कंपनी के फॉरेंसिक ऑडिट की भी मांग कर डाली है।

इस बाबत कंपनी में निवेशकों ने एक्स्ट्राऑर्डिनरी जनरल मीटिंग (ईजीएम) बुलाई थी, जिसमें  कंपनी के संस्थापक बायजू रवींद्रन को उनके परिवार के सदस्यों सहित कंपनी से बाहर करने पर चर्चा की गई थी। हालांकि इस ईजीएम बैठक को बायजू रवींद्रन ने अवैध बताया था, और साथ ही वह और उनका परिवार का कोई भी सदस्य इसमें शामिल नहीं हुआ था।

See Also
krutrim-ai-becomes-unicorn

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

गौरतलब हो, Byju’s कंपनी के लिए अभी कुछ भी ठीक ठाक होता नही दिख रहा है, निवेशकों और प्रबंधक के बीच विवाद , वित्तीय संकट, ईडी की जांच, कर्मचारियों की सैलरी भुगतान जैसे मुद्दे को लेकर वह काफ़ी समय से खबरों में बनी हुई है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.