Now Reading
WeWork हुआ दिवालिया, किया आवेदन, 4 साल पहले $47 बिलियन थी वैल्यूएशन

WeWork हुआ दिवालिया, किया आवेदन, 4 साल पहले $47 बिलियन थी वैल्यूएशन

  • WeWork ने न्यू जर्सी संघीय अदालत में दिवालिया घोषित होने के लिए आवेदन दायर किया है।
  • भारत में WeWork India 7 शहरों में लगभग 50 सेंटर का संचालन कर रही है।
wework-to-sell-27-percent-stake-in-india-at-rs-1200-crore

WeWork Files For Bankruptcy: कभी दुनिया के सबसे दिग्गज स्टार्टअप्स में गिना जाने वाला WeWork अब दिवालिया हो चुका है। जी हाँ! सामने आ रही खबरों के मुताबिक, को-वर्किंग स्पेस प्रदाता कंपनी ने खुद अमेरिका में ‘दिवालिया’ घोषित होने के लिए आवेदन दायर कर दिया है।

ऑफिस-शेयरिंग कंपनी WeWork ने 6 नवंबर को अमेरिका स्थित न्यू जर्सी संघीय अदालत में दिवालिया चैप्टर 11 दिवालियापन संरक्षण के लिए आवेदन किया है। अपनी याचिका में कंपनी ने कहा है कि इसने भारी बहुमत के साथ अपने सुरक्षित नोट धारकों से एक समझौता किया था, और इसका इरादा ‘गैर-परिचालन’ वाले पट्टों को कम करने का था।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

न्यूयॉर्क आधारित इस कंपनी ने न्यू जर्सी में दायर की गई ‘चैप्टर 11’ याचिका में अपनी संपत्ति और देनदारियों दोनों को क्रमशः $10 बिलियन से $50 बिलियन की सीमा में बताया है।

WeWork Files For Bankruptcy: क्या होगा लाभ?

आप शायद सोच रहें होंगे कि भला ‘चैप्टर 11’ फाइलिंग से कंपनी को क्या लाभ होगा? असल में याचिका मंजूर होने के बाद WeWork को अपना ऋण (लोन) चुकाने के प्रयास करने के साथ ही साथ, संचालन को भी जारी रखने की अनुमति मिल सकती है।

2019 से शुरू हुआ बुरा वक्त?

जापानी दिग्गज निवेशक सॉफ़्टबैंक (SoftBank) समर्थित WeWork Global आज से 4 साल पहले यानी 2019 में $47 बिलियन की भारी वैल्यूएशन के साथ खड़ा था। उसी साल कंपनी की ओर से आईपीओ (IPO) दायर करने की योजना का ऐलान भी किया गया था। लेकिन इसके बाद से ही मानों कंपनी के लिए बुरा वक्त शूरू हो गया।

अचानक बनी महामारी की स्थिति के चलते कंपनी को भारी नुकसान का सामना करना पड़ा। महामारी के बाद भी कंपनी वापसी कर पाने में असफल ही रही। साथ ही लॉन्ग टर्म लीज पर स्पेस लेकर, उन्हें शॉर्ट टर्म के लिए किराए पर देने का मॉडल अब WeWork के निवेशकों को भी उतना लुभावना नहीं लग रहा था।

इसके बाद साल 2021 में कंपनी पहले की तुलना में वैल्यूएशन के लिहाज से एक बड़ी गिरावट के साथ आईपीओ पेश करती नजर आई। वहीं संचालन, मूल्यांकन और विकास की संभावनाओं के बारे में निवेशकों की चिंताओं के बीच WeWork के संस्थापक एडम न्यूमैन (Adam Neumann) को सीईओ पद से इस्तीफा देना पड़ा और कंपनी की वैल्यूएशन में नाटकीय गिरावट दर्ज की जाने लगी।

See Also
govt-issues-notice-to-bharatpe

अकेले इसी साल कंपनी के शेयरों की कीमत में लगभग 96 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की जा चुकी है। इस आर्टिकल को लिखते समय WeWork Inc. के एक शेयर की कीमत करीब 0.84 USD है।

क्या WeWork India पर भी पड़ेगा असर?

भारत में अपना संचालन करने वाला WeWork India फिलहाल इससे प्रभावित होता नजर नहीं आता है। असल में WeWork India का प्रमुख शेयरधारक एम्बेसी ग्रुप (Embassy Group) है, जिसके पास कंपनी की 73 प्रतिशत हिस्सेदारी है, वहीं WeWork Global भारतीय कारोबार में महज 27 प्रतिशत की हिस्सेदारी रखता है।

वर्तमान में WeWork India देश भर के 7 शहरों में लगभग 50 सेंटर्स का संचालन कर रही है। इन शहरों की लिस्ट में नई दिल्ली, गुरुग्राम, नोएडा, मुंबई, बेंगलुरु, पुणे और हैदराबाद शामिल हैं। बताते चलें WeWork Global ने जून 2021 में WeWork India में $100 मिलियन का निवेश किया था।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.