Now Reading
Microsoft बंद करने जा रहा है वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग ऐप Teams का फ्री वर्जन

Microsoft बंद करने जा रहा है वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग ऐप Teams का फ्री वर्जन

microsoft-to-sell-teams-and-office-apps-separately

Microsoft is shutting down free version of Teams: टेक दिग्गज माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने एक बड़ा ऐलान किया है। कंपनी के बताया है कि यह अपने वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग ऐप ‘Teams’ के मुफ्त संस्करण (फ्री वर्जन) को बंद करने जा रही है।

जी हाँ! वही Microsoft Teams जिसका व्यवसाय व्यापक रूप से इस्तेमाल करते हैं और अगर आप प्राइवेट कंपनी में जॉब करते हैं, तो बहुत अधिक संभावना है आपने कभी न कभी इसका इस्तेमाल भी किया हो।

लेकिन अब, इतनी लोकप्रियता अर्जित करने के बाद, इतना तो तय है कि माइक्रोसॉफ्ट यह नहीं चाहता कि व्यवसाय सिर्फ मुफ्त में उसकी इस सेवा का इस्तेमाल करें। वैसे ऐसा नहीं है कि अब तक इसके पेड वर्जन (Paid Version) नहीं था, लेकिन फिलहाल कंपनी सीमित रूप में उपयोग के लिहाज से इसका एक मुफ्त वर्जन भी पेश करती आ रही थी।

किस तारीख से बंद हो रहा है Microsoft Teams (Classic) फ्री वर्जन? 

असल में कंपनी द्वारा की गई ताजा घोषणा में बताया गया है कि;

“12 अप्रैल, 2023 के बाद से व्यवसायों के लिए उपलब्ध लोकप्रिय फ्री ऐप, Microsoft Teams Free (Classic) बंद हो जाएगा, और इसको इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा।”

कैसे जारी रखें इस्तेमाल और बचाएँ मौजूदा डेटा?  

आप शायद सोच रहे हों की मौजूदा ऐप में मौजूद आपके डेटा आदि का क्या होगा? तो इसका रास्ता भी कंपनी ने ही बताया है।

टेक दिग्गज के अनुसार, उपयोगकर्ताओं को चैट, मीटिंग्स, चैनल और अन्य अहम डेटा व जानकारी को संरक्षित रखे रहनें के लिए Microsoft Teams Essentials में अपग्रेड करना होगा। इसके लिए प्रति उपयोगकर्ता हर महीनें ₹110 देने होंगे।

माइक्रोसॉफ्ट के नए Teams Essentials की कीमत व सुविधाएँ:

कंपनी के अनुसार;

“Microsoft Teams Essentials में अपग्रेड करने से उपयोगकर्ता Teams ऐप का उपयोग जारी रख सकेंगे और उनकी सभी चैट, फ़ाइलों, टीमों और मीटिंग्स तक पहुँच आसान पहुँच बनी रहेगी।”

आपको बता दें, प्रति उपयोगकर्ता हर महीनें ₹110 का भुगतान करने पर, Teams Essentials वर्जन में हर एक मीटिंग में 300 प्रतिभागियों को एक साथ जोड़ा जा सकता है, और इसमें 30 घंटे तक की असीमित ग्रुप मीटिंग्स की सुविधा, और प्रत्येक उपयोगकर्ता को 10GB क्लाउड स्टोरेज भी मिलता है।

See Also
meta-to-set-up-its-first-data-center-in-india-at-reliance-campus

आपको याद दिला दें, पिछले महीन ही माइक्रोसॉफ्ट ने Teams ऐप के कुछ फीचर्स जैसे – अनुवादित कैप्शन, कस्टम टुगेदर मोड दृश्यों और वर्चुअल अपॉइंटमेंट विकल्पों को अपने नए और अधिक महंगे प्रीमियम संस्करण में स्थानांतरित करने का भी ऐलान किया था।

कंपनी ने कहा था कि फरवरी में प्रीमियम संस्करण पूरी तरह से लॉन्च होने के बाद Teams के कुछ फीचर्स Teams लाइसेंस से Teams Premium लाइसेंस में चले जाएंगे।

यह सब ऐसे वक्त में हो रहा है जब Microsoft व्यापक रूप से OpenAI के साथ अपनी साझेदारी का विस्तार करते हुए, अपने सर्च इंजन Bing में ChatGPT एआई चैटबॉट का एकीकरण कर रहा है और इसको अब आधिकारिक रूप से पेश भी कर दिया गया है।

इसके जवाब में कुछ दिन पहले ही गूगल (Google) ने भी अपने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस चैटबॉट, ‘Bard’ (बार्ड) पेश कर दिया है, जो कंपनी के ही लैग्वेज मॉडल – लैम्डा (LaMDA) पर आधारित है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.