Now Reading
जनवरी 2023 में UPI के जरिए हुए ₹13 ट्रिलियन के लेनदेन: NPCI

जनवरी 2023 में UPI के जरिए हुए ₹13 ट्रिलियन के लेनदेन: NPCI

upi-now-in-france-list-of-countries-accepting-upi

UPI Transactions in January 2023: हम सब जानते हैं कि देश में डिजिटल पेमेंट विकल्पों को तेजी से अपनाया जा रहा है, और इसमें यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस यानी UPI एक बहुत महत्वपूर्ण रोल अदा कर रहा है। इस बात की गवाही आँकड़े खुद दे रहे हैं।

जी हाँ! सामने आए नए आँकड़ो के अनुसार, जनवरी 2023 में यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) आधारित लेनदेन (ट्रांजेक्शन) की संख्या 8.03 बिलियन के आँकड़े को पार कर गई। आपको बता दें, दिसंबर 2022 में लगभग 7.82 बिलियन यूपीआई (UPI) ट्रांजेक्शन दर्ज किए गए थे।

भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) के द्वारा पेश किए गए आंकड़ों की मानें तो, भारत में जनवरी (2023) के महीने में ₹13 ट्रिलियन की पेमेंट सिर्फ UPI के जरिए हुई। वहीं ट्रांजेक्शन की कुल संख्या 8.03 बिलियन रही।

इसके पहले दिसंबर (2022) में लेनदेन की संख्या 7.8 बिलियन थी, जबकि इनका कुल मूल्य ₹12.8 ट्रिलियन के करीब रहा था।

upi-transactions-in-january-hits-rs-13-trillion-in-value-npci

दिलचस्प ये है कि देश में UPI लेनदेन में वृद्धि के साथ ही साथ डिजिटल लोन में भी वृद्धि दर्ज की जा रही है, जो खुद में, देश के डिजिटल भुगतान की नई तस्वीर को पेश कर रहा है।

UPI Transactions in January 2023

ऐसा नहीं है कि डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) और रियल-टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) जैसे पहले से मौजूद भुगतान विकल्पों में, समय के साथ बढ़त दर्ज ना हुई हो, लेकिन इतने कम समय में, UPI की वृद्धि हैरान जरूर करती है।

आपको बता दें UPI का डंका ना सिर्फ देश बल्कि विदेशों में भी बजने लगा है। जी हाँ! अपनी सहायक कंपनी के माध्यम से, NPCI लगातार सिंगापुर, संयुक्त अरब अमीरात, फ्रांस और नीदरलैंड जैसे अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में भी UPI की तैनाती के प्रयासों को तेज कर रहा है।

See Also
vodafone-idea-government-convert-dues-into-equity

NPCI के इन तमाम प्रयासों को और बल देते हुए, केंद्रीय आम बजट 2023-24 में सरकार ने कई ऐसे प्रावधान किए हैं, जिनसे UPI को बढ़ावा दिया जा सके। इनके तहत प्रवासी भारतीयों के लिए, Bharat Bill Payments System का विस्तार भी शामिल है।

इस बात में कोई शक नहीं है कि आगामी समय में UPI और अधिक समृद्ध बनते हुए, डिजिटल पेमेंट अपनाने की प्रक्रिया में तेजी लाने में मदद करेगा, जिससे देश की अधिकांश आबादी लाभान्वित होती नजर आएगी।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.