Now Reading
YouTube पर 1 फरवरी से Shorts के जरिए भी पैसे कमा सकेंगे क्रिएटर्स, शुरू हुई ‘मॉनेटाइजेशन प्रक्रिया’

YouTube पर 1 फरवरी से Shorts के जरिए भी पैसे कमा सकेंगे क्रिएटर्स, शुरू हुई ‘मॉनेटाइजेशन प्रक्रिया’

it-ministry-asks-youtube-to-put-unverified-disclaimer-on-fake-news-channels

YouTube Shorts Earning Program: टेक दिग्गज गूगल (Google) के मालिकाना हक वाले वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म यूट्यूब (YouTube) ने अब क्रिएटर्स के लिए कमाई का एक और दरवाजा खोल दिया है।

हम सब जानते हैं कि TikTok द्वारा शॉर्ट वीडियो फॉर्मेट को लोकप्रिय बनाने के बाद से ही Instagram ने Reels और YouTube ने Shorts जैसे फीचर्स पेश किए थे। और आज भारत समेत दुनिया भर में सबसे अधिक शॉर्ट वीडियों का चलन ही देखनें को मिल रहा है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

लेकिन अब YouTube ने Shorts फीचर के तहत अपने प्लेटफॉर्म पर शॉर्ट वीडियो बनाने वाले क्रीएटर्स के लिए यूट्यूब पार्टनर प्रोग्राम (YouTube Partner Program) को अपडेट करते हुए ‘शॉर्ट्स मॉनिटाइजेशन मॉड्यूल’ ‘Shorts Monetisation Module’ पेश किया है।

‘मॉनिटाइजेशन’ शब्द सुनते ही आप समझ ही गए होंगे यह क्रीएटर्स की कमाई से संबंधित है। और आपका अंदाज़ा सही भी है, अब YouTube Shorts पर आप अपने शॉर्ट वीडियो के जरिए भी कमाई कर सकेंगे।

वैसे तो बीतें कुछ महीनों से YouTube Shorts में वीडियो स्क्रोल करने वक्त ‘विज्ञापन’ नजर आ रहे हैं, लेकिन अब तब कंपनी इस कमाई का हिस्सा सभी क्रीएटर्स के साथ साझा नहीं कर रही थी। लेकिन अब खुद कंपनी ने Shorts बनाने वाले सभी क्रिएटर्स के साथ विज्ञापन से हुई कमाई को बांटने का ऐलान किया है।

क्या है Shorts मॉनिटाइजेशन मॉडल? 

असल में अब नए शॉर्ट्स मॉनिटाइजेशन मॉड्यूल के तहत Shorts वीडियो के जरिए होने वाली कमाई का 55% हिस्सा YouTube लेगा और बाक़ी का 45% हिस्सा क्रिएटर्स को मिलेगा। बता दें YouTube अपने हिस्से की कमाई से 10% हिस्सा शॉर्ट वीडियो में यूज होने वाले म्यूजिक क्रिएटर्स को देगा।

See Also
npci-launches-upi-help

YouTube Shorts Earning Program: क्या है पात्रता? 

वैसे Shorts बनाने वाले क्रीएटर्स को इस मॉनिटाइजेशन प्रोग्राम में शामिल हो सकने के लिए कंपनी ने कुछ न्यूनतम पात्रता लागू की है। इसके तहत क्रीएटर्स के चैनल पर पिछले 90 दिनों में 1,000 ग्राहकों और 10 मिलियन Shorts व्यूज होने चाहिए, तभी वह शॉर्ट्स मॉनिटाइजेशन मॉड्यूल के लिए आवेदन कर सकेंगे।

कंपनी द्वारा तय समयसीमा

क्रीएटर्स को भेजे गए ईमेल में कंपनी ने यह साफ किया है कि Shorts वीडियो पर मॉनिटाइजेशन की ये शुरुआत 1 फरवरी, 2023 से हो जाएगी।

अगर 1 फरवरी 2023 के बाद आप कंपनी के नए पार्टनर प्रोग्राम एग्रीमेंट को स्वीकार करते हैं, तो Shorts में दिखाए गए विज्ञापनों से होने वाली कमाई का हिस्सा आपके द्वारा स्वीकार की जाने की तारीख से ही शुरू होगा।

लेकिन बता दें कि इसके लिए YouTube ने नए पार्टनर प्रोग्राम एग्रीमेंट को भी पेश किया है, जिसको स्वीकार (Accept) करने के लिए क्रिएटर्स को 10 जुलाई, 2023 तक का समय दिया गया है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.