Now Reading
क्रिप्टो इन्वेस्टमेंट प्लेटफ़ॉर्म Flint ने Sequoia और GFC के नेतृत्व में हासिल किया लगभग ₹38 करोड़ का निवेश

क्रिप्टो इन्वेस्टमेंट प्लेटफ़ॉर्म Flint ने Sequoia और GFC के नेतृत्व में हासिल किया लगभग ₹38 करोड़ का निवेश

Binance Layoffs

Flint – Crypto Investment App: भले क्रिप्टोकरेंसी को लेकर कितनी भी तरह की अटकलें क्यों ना लगाई जाएँ, लेकिन भविष्य से जुड़ी इसकी संभावनाओं को कोई भी सिरे से ख़ारिच नहीं कर सकता। और इन्हीं संभावनाओं के चलते क्रिप्टो कंपनियाँ भी ग्राहकों और निवेशकों दोनों को अपनी ओर आकर्षित कर रही हैं।

इसी कड़ी में अब बेंगलुरु आधारित ग्लोबल क्रिप्टो इन्वेस्टमेंट ऐप Flint ने अपने सीड फ़ंडिंग राउंड में $5.1 मिलियन (लगभग 38 करोड़) का निवेश हासिल करने का ऐलान किया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

कंपनी के लिए इस निवेश दौर के नेतृत्व Sequoia Capital India और GFC जैसे दिग्गज़ निवेशकों ने किया। इनके साथ ही Coinbase Ventures, Hashed, IOSG, Better Capital और MSA Capital सहित अन्य कई संस्थागत व एंजेल निवेशक भी इसमें शामिल हुए।

इन एंजेल निवेशकों में कुणाल शाह (संस्थापक, CRED), संदीप नेलवाल (सह-संस्थापक, Polygon), जयंती कनानी (सह-संस्थापक, Polygon), नितिन गुप्ता (सह-संस्थापक, Uni), कुणाल बहल और रोहित बंसल (सह-संस्थापक, Snapdeal), तन्मय भट व अन्य शामिल रहे।

इस बीच Flint के मुताबिक़, इस प्राप्त पूँजी का उपयोग कंपनी अपने शुरुआती उपयोगकर्ताओं को ऑन-बोर्ड करने, उनके फ़ीडबैक के आधार पर प्रोडक्ट को और बेहतर बनाने तथा इंजीनियरिंग, डिजाइन आदि क्षेत्रों में टीम का विस्तार करने में करेगी।

दिलचस्प रूप से कंपनी इस पूँजी का एक अहम हिस्सा ख़ुद को कानूनी रूप से और जोखिम के प्रति मजबूत बनाने, नियामक मानदंडों के अनुपालन को सुनिश्चित करने और व्यापार जोखिम को कम करने के लिए इस्तेमाल करेगी।

Flint – Crypto Investment App

Flint की शुरुआत साल 2021 में अक्षित बोर्डिया (Akshit Bordia) और अंशु अग्रवाल (Anshu Agrawal) ने मिलकर की थी। कंपनी का मक़सद क्रिप्टो खरीदने और बेचने की सुविधा देने से परे भी उपयोगकर्ताओं को एक निवेश का अवसर प्रदान करने का है, जिससे उपयोगकर्ता को एक निष्क्रिय आय विकल्प मिल सके।

flint crypto app

फ़िलहाल कंपनी एक सरल और स्थिर आय का अवसर प्रदान करती है जहां उपयोगकर्ता अपने जमा किए गए पैसों पर हर साल 13% तक कमा सकते हैं।

Flint की ओर से जारी बयान के अनुसार, कंपनी उपयोगकर्ताओं को बिटकॉइन (Bitcoin) या एथेरियम (Ethereum) जैसी अस्थिर क्रिप्टो संपत्तियों के प्रति उत्साहित नहीं करता, बल्कि यह सिर्फ़ USDT, USDC जैसी जैसी स्थिर क्रिप्टोकरेंसी से डील करता है, जिनकी क़ीमतों में उतार-चढ़ाव बेहद कम होता है।

See Also
ex-twitter-ceo-parag-agrawal-raises-30-mn-dollar-for-new-ai-venture

कंपनी के सह-संस्थापक, अंशु अग्रवाल ने कहा,

“Flint का मिशन क्रिप्टोकरेंसी को सभी के लिए आसान और सुलभ बनाना है।”

वैसे क्रिप्टो निवेश संबंधित ये प्लेटफ़ॉर्म मुख्यतः 25 से 40 साल की आयु वर्ग वाले उपयोगकर्ताओं को टार्गेट करता है, जो अपने पैसों के एक हिस्से को स्थिर क्रिप्टो मार्केट में निवेश करने की तलाश में रहते हैं। पर अधिकांश लोग क्रिप्टो मार्केट की जटिलताओं और बुनियादी बातों को समझने के लिए कम समय निवेश कर सकने जैसी समस्यों के चलते ऐसा नहीं कर पाते हैं।

कंपनी ने अनुसार इसके उपयोगकर्ता मुख्य रूप से टियर-1 शहरों से हैं, जो सालाना ₹12 लाख से ज्यादा कमाते हैं। ऐसे उपयोगकर्ता नियमित रूप से पेमेंट और निवेश ऐप का उपयोग करते हैं, साथ ही म्यूचुअल फंड या अन्य चीज़ों में निवेश करते हैं।

वर्तमान में Flint ने शुरुआत एक्सेस (Early-Access) लिस्ट में ‘13% तक ब्याज’ की पेशकश शुरू करने की योजना बनाई है और जल्द ही अंतरराष्ट्रीय उपयोगकर्ताओं के लिए भी इसकी शुरुआत की जाएगी।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.