Now Reading
Paytm को पीछे छोड़, BYJU’S बना भारत का सबसे अधिक “वैल्यूएशन वाला स्टार्टअप” – रिपोर्ट

Paytm को पीछे छोड़, BYJU’S बना भारत का सबसे अधिक “वैल्यूएशन वाला स्टार्टअप” – रिपोर्ट

insolvency-petition-against-byjus-in-nclt

भारत के ऑनलाइन एजुकेशन स्टार्टअप BYJU’S ने UBS Group AG से $150 मिलियन निवेश जुटाया है, और इसी के साथ ही इसकी वैल्यूएशन (Valuation) क़रीब $16.5 बिलियन पहुँच गई है। यह जानकारी तमाम मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से सामने आई है।

जी हाँ! सामने आई तमाम मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इसी के साथ ही BYJU’S भारत का सबसे अधिक वैल्यूएशन (Valuation) वाला स्टार्टअप बन गया है। यह सब एक ऐसे वक़्त में आया है जब पिछले साल से महामारी के चलते देश भर में लॉकडाउन जैसे हालात हैं, और अधिक से अधिक स्टूडेंट्स ऑनलाइन क्लासों का रूख कर रहें हैं।

इस बीच क़रीब एक महीनें पहले Bloomberg की एक रिपोर्ट के अनुसार यह सामने आया था कि BYJU’S ने Facebook ने सह-संस्थापक Eduardo Saverin के B Capital Group, Baron Funds और XN से क़रीब $1 बिलियन का निवेश हासिल किया था।

Valuation के मामले में Paytm से आगे निकला BYJU’S

आपको बता दें इस नए $150 मिलियन के निवेश के साथ ही BYJU’S की वैल्यूएशन (Valuation) क़रीब $16.5 बिलियन पहुँचने से कंपनी ने Paytm को पीछे छोड़ दिया है, जिसकी वैल्यूएशन $16 बिलियन के क़रीब है।

बीते कुछ समय से भारत की स्टार्टअप इंडस्ट्री में यूनिकॉर्न स्टार्टअप्स [जिन स्टार्टअप्स की वैल्यूएशन (Valuation) $1 बिलियन से अधिक हो] की संख्या तेज़ी से बढ़ रही है।

byjus-acquires-offline-test-prep-giant-aakash-institute-for-nearly-1bn

Think & Learn Pvt वाले आधिकारिक नाम के साथ BJYU’S फ़िलहाल अपने निवेशकों की सूची में Silver Lake Management, Owl Ventures, T Rowe Price, Mark Zuckerberg के Chan-Zuckerberg Initiative, Naspers Ltd और Tiger Global Management जैसे दिग्गज नाम शामिल किए हुए है।

असल में भारत के एजुकेशन बाज़ार की संभावनाओं और नए हालातों को देखते हुए ऑनलाइन शिक्षा क्षेत्र में ग्लोबल निवेशक बहुत बढ़चढ़ कर दिलचस्पी दिखा रहे हैं और जिसका फ़ायदा सीधी BYJU’S जैसे स्टार्टअप्स को मिल रहा है।

See Also
prosus-and-peak-xv-voted-to-fire-ceo-byju-raveendran

एक रिपोर्ट के मुताबिक़ अकेले भारत के ही 2 एजुकेशन स्टार्टअप्स इस साल यूनिकॉर्न क्लब में शामिल हो सकते हैं, जिसके बाद देश में यूनिकॉर्न का दर्जा रखने वाले एजुकेशन टेक स्टार्टअप्स की कुल संख्या 4 हो जाने की उम्मीद है।

बैंगलोर स्थित इस स्टार्टअप की स्थापना एक पूर्व ट्यूटर बजू रवेन्द्रन ने की थी, जिनके माता-पिता ख़ुद भी शिक्षक थे। 39 वर्षीय रवींद्रन कंपनी के लगभग एक तिहाई मालिक हैं।

इसके साथ ही कुछ ही समय पहले BYJU’S ने बच्चों को ऑनलाइन कोडिंग सीखाने वाले प्लेटफ़ॉर्म WhiteHat Jr और देश में इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं की ऑफ़लाइन तैयारी करवाने वाले सबसे बड़े नाम Aakash Institute का भी अधिग्रहण किया है।

फ़िलहाल आपको बता दें कंपनी और इसके निवेशक ने इस मामले पर कोई भी आधिकारिक सार्वजनिक टिप्पणी नहीं की है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.