Now Reading
Swiggy अपने पार्टनर रेस्टोरेंट्स के लिए करेगा ‘क्रेडिट’ पर सामानों की सप्लाई: रिपोर्ट

Swiggy अपने पार्टनर रेस्टोरेंट्स के लिए करेगा ‘क्रेडिट’ पर सामानों की सप्लाई: रिपोर्ट

swiggy-announces-four-day-work-weeks-in-may

मौजूदा लॉकडाउन के हालातों को देखते हुए बेंगलुरु स्थित फूड एग्रीगेटर Swiggy ने रेस्टोरेंट पार्टनर्स को रिझाने का एक नया तरीका इजात किया है 

दरसल MoneyControl की एक रिपोर्ट के आधार पर इस बार Swiggy ने लॉकडाउन के दौरान प्रभावित सप्लाई चेन गैप को टारगेट करते हुए Swiggy Staples Plus के माध्यम से क्रेडिट या लोन पर रेस्टोरेंट्स को पैकेजिंग सामग्री के साथ पोल्ट्री, मांस, सब्जियां और अन्य आपूर्ति देने की पेशकश रही है।

हालाँकि इस रिपोर्ट की मानें तो अभी तक Swiggy ने इस पर किसी भी प्रकार की कोई टिप्पणी नहीं की है। लेकिन रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से यह कहा गया कि Swiggy की यह नयी सुविधा अभी शुरुआती चरण में है। ऐसे में कंपनी कुछ समय देकर पहले यह समझना चाहती है की यह कैसे विकसित जाए और इसलिए अभी कंपनी इस पर कोई भी बयान नहीं देना चाहती है

आपको बता दें Swiggy Staples Plus फ़िलहाल कंपनी जिसका परीक्षण कर रही है, वह रेस्टोरेंट को क्रेडिट पर सामान देने के लिए कंपनी की बिज़नेस-टू -बिज़नेस सुविधा Swiggy Staples का इस्तेमाल करते नजर आएगी

वहीँ एक अहम् जानकारी जो सूत्रों के हवाले से सामने आयी है वह यह कि Swiggy यह पैसा कथित रूप से रेस्टोरेंट के उस कमाई से काट सकती है, जो रेस्टोरेंट Swiggy के जरिये आये आर्डर से कमातें हैं।

दरसल यह एक बेहद दिलचस्प पहल साबित हो सकती है। रेस्टोरेंट के सप्लाई चेन नेटवर्क से जुड़ना Swiggy और Zomato जैसे प्लेटफार्म लिहाज़ से फायदेमंद साबित हो सकता है

लेकिन जहाँ पहली बार सुनने में यह सुविधा बहुत दिलचस्प लगती है, वहीँ अब इसके अन्य पहलुओं को लेकर अब आवाजें भी उठने लगी हैं।

दरसल National Restaurant Association of India अपने खुद के डिलीवरी नेटवर्क बनाने की कोशिश कर रही है, लेकिन मौजूदा प्लेटफॉर्म के साथ इसका संबंध फूड डिलीवरी से परे है।

See Also
indian-govt-asks-quick-commerce-companies-to-prove-10-minute-delivery-claims

दरसल लगातार Swiggy और Zomato दोनों कंपनियों पर लुभावनें मूल्य निर्धारण और उपभोक्ता डेटा साझा करने के आरोप लगते रहें हैं।

लेकिन इस बीच बात करें Swiggy की इस नयी सुविधा की तो यह नया प्रोडक्ट अपने शुरुआती डिजाइन के अनुसार रेस्टोरेंट मालिकों या पार्टनर्स को भुगतान स्क्रीन पर ‘Credit On Pay’ के रूप में दिखाई देगा।

कथित रूप से ‘आज ख़रीद कल भुगतान’ वाले मॉडल की तर्ज पर होगा। साथ ही बकाया राशि को बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियों की बुकलेट में क्रेडिट के रूप में दिखाया जाएगा, जो शायद इस व्यवसाय के लिए जोखिम लेने को तैयार हैं।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.