Now Reading
COVID-19 की वजह से प्रभावित राजस्व के चलते Lendingkart ने की 30% कर्मचारियों की छटनी

COVID-19 की वजह से प्रभावित राजस्व के चलते Lendingkart ने की 30% कर्मचारियों की छटनी

लॉकडाउन का असर कुछ ऐसा है कि कंपनियां लगातार अपने मौजूदा कर्मचारियों की छटनी करने को मजबूर नजर आनें लगी हैं।

और अब इसी कड़ी में नया नाम जुड़ा है देश के फिनटेक जगत की जानी मानी लोन प्रदाता कंपनी Lendingkart का जिसनें अब 200 से अधिक कर्मचारियों के साथ करीब अपने 30% कर्मचारियों की छटनी का ऐलान किया है।

इकॉनोमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार कंपनी ने ईमेल में के जरिये इस छंटनी की घोषणा की है। रिपोर्ट की मानें तो कंपनी के प्रवक्ता के अनुसार COVID-19 के चलते पैदा हुए मौजूदा हालातों में मंदी और तेजी से गिरते राजस्व के चलते यह फैसला लिया गया है।

दरसल स्वाभाविक तौर पर मौजूदा हालातों का प्रभाव सबसे अधिक सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों पर पड़ा है, जिसके चलते अप्रत्यक्ष रूप से NBFCs कंपनियों का एक बड़ा ग्राहक आधार जूझता नज़र आ रहा है। NBFCs के लिए लोन वापसी और नए लोन देने में भी भारी कठिनाईयां आ रहीं हैं।

आपको बता दें की दिलचस्प रूप से इस हफ्ते की शुरुआत में ही LendingKart ने बताया था कि कंपनी ने अपने सीरीज-D राउंड के तहत 319 करोड़ रुपये का निवेश हासिल करने में सफलता हासिल की है।

यह निवेश कंपनी को Fullerton Financial Holdings, Bertelsmann India Investments, Sistema Asia Fund और IndiaQuotient जैसे मौजूदा निवेशकों से हासिल हुआ था। आपको बता दें कि इस नए निवेश के साथ अब तक अहमदाबाद स्थित इस स्टार्टअप ने अब तक कुल 1,050 करोड़ रुपये बतौर निवेश हासिल कर लिए हैं।

See Also
binance-and-kucoin-will-restart-operations-in-india

इस बीच रिपोर्ट के अनुसार छटनी को लेकर कंपनी के प्रवक्ता बताया कि कंपनी को बड़े कमर्चारी आधार को लम्बें समय तक काम पर रखे रहने के लिए या फैसला लेने पर बाध्य होना पड़ा।

आपको बता दें लगातार ही हम देश में तमाम क्षेत्रों से जुड़े स्टार्टअप्स द्वारा कमर्चारियों की छटनी किये जाने जैसी खबरे देख रहें हैं। दरसल करीब 2 महीनें से चल रहे लॉकडाउन के बाद अब भले कंपनियों को थोड़ी राहत मिलने लगी हो, लेकिन अभी भी आगामी समय में हमें ऐसी और भी खबरें देखनें को मिल सकती हैं।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.