Now Reading
Cyclone Remal: पश्चिम बंगाल से लेकर बिहार तक भारी बारिश के आसार, जानें यहां

Cyclone Remal: पश्चिम बंगाल से लेकर बिहार तक भारी बारिश के आसार, जानें यहां

  • रेमल तूफान" शनिवार शाम पूर्वी-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर से टकराएगा.
  • पश्चिम बंगाल के निचले इलाकों में बाढ़ आने की संभावना.

Impact of cyclone Remal in India: बंगाल की खाड़ी में “रेमल तूफ़ान” के टकराने से एक बड़ा चक्रवात बनने की संभावना भारतीय मौसम विभाग ने जताई है, इस चक्रवात की वजह से भारत के कई राज्यों में भीषण वर्षा होने की बात कही जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार, पूर्वी-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर ‘डीप डिप्रेशन’ शाम (शनिवार) तक एक चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना जताई है, जिसका असर पश्चिम बंगाल से लेकर बिहार तक होने वाला है।

आईएमडी ने पश्चिम बंगाल में बाढ़ की चेतावनी जारी की

“रेमल तूफान” जब शनिवार शाम को पूर्वी-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर से टकराएगा तो भारत के कई इलाकों ने भारी बारिश होने की संभावना उत्पन्न होगी। आईएमडी के अनुसार इसके चलते तटीय पश्चिम बंगाल के निचले इलाकों में बाढ़ आने की संभावना है इसके साथ ही बांग्लादेश के तटीय इलाकों में भूस्खलन भी हो सकता है।

बंगाल की खाड़ी से लगे राज्यों होंगे प्रभावित

रेमल तूफ़ान के चलते भारत के उत्तरी ओडिशा के तटीय इलाकों में 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से भारी बारिश हो सकती है, मौसम विभाग ने कहा कि सभी पूर्वोत्तर राज्यों में बारिश होगी और कुछ इलाकों में अत्यधिक बारिश की चेतावनी है। वही बिहार को लेकर मौसम (Impact of cyclone Remal in India)  विभाग का अनुमान है तूफान की वजह से बिहार के तापमान में बाहरी गिरावट आ सकती है, जिससे कि लोगों को भारी गर्मी से राहत मिलेगी।

27 मई तक बंगाल की खाड़ी में न जाने की हिदायत

तूफान के तट से टकराने के समय पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटीय इलाकों में 1.5 मीटर तक ऊंची लहरें उठ सकती हैं, सुरक्षा की दृष्टि से भारतीय तटरक्षक बल (Impact of cyclone Remal in India) ने रणनीतिक स्थानों पर नौ आपदा राहत टीमें तैनात की है। इन टीमों को हल्दिया, पारादीप, गोपालपुर और फ्रेज़रगंज सहित रणनीतिक स्थानों पर तैनात किया गया है, जो आपात स्थिति में तत्काल सहायता प्रदान करने के लिए तैयार है।

See Also
xenophobia-stalling-india-and-china-economic-growth-joe-biden-says

न्यूज़North अब whatsapp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

इसके साथ ही मौसम विभाग ने समुद्र में मौजूद मछुआरों को सलाह दी गई है कि,  वे तट पर लौट जाएं और 27 मई तक बंगाल की खाड़ी में न जाएं।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.