Now Reading
पुलिस भर्ती परीक्षा हुई रद्द, 6 माह के भीतर फिर होगी, बस सेवा फ्री

पुलिस भर्ती परीक्षा हुई रद्द, 6 माह के भीतर फिर होगी, बस सेवा फ्री

  • यूपी पुलिस आरक्षी नागरिक पुलिस के पदों पर चयन के लिए आयोजित परीक्षा-2023 को हुई निरस्त.
  • 06 माह बाद होने वाली परीक्षा मे सरकार की ओर से बस मुहैया करवाने की घोषणा.
rpsc-protection-officer-recruitment-result-no-single-eligible-candidate

UP police recruitment exam cancelled: उत्तरप्रदेश सरकार ने राज्य में हुई यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा को रद्द कर दिया है। योगी आदित्यनाथ सरकार ने छात्रों के बढ़ते आक्रोश को देखते हुए परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला लिया है। इसके साथ ही योगी आदित्यनाथ सरकार ने पेपर लीक मामले में सम्मिलित दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात भी कही है।

छात्रों के लिए परीक्षा को पूर्ण शुचिता के साथ संपन्न करवाने के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार इसे फिर से आयोजित करने जा रही है, सरकार इसे अगले छः महिनों के अंदर परीक्षाओं को फिर से संपन्न करवाएगी।

इसके साथ साथ योगी आदित्यनाथ ने परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों के लिए जिस भी जिले में उनका सेंटर परीक्षा के पेपर हल करने के लिए मिलेगा वह पहुंचाने के लिए सरकार की ओर से बस मुहैया करवाने की घोषणा भी की है।

सीएम योगी ने इस संबंध में एक्स पर जानकारी देते हुए लिखा है,

 ‘ यूपी पुलिस आरक्षी नागरिक पुलिस के पदों पर चयन के लिए आयोजित परीक्षा-2023 को निरस्त करने तथा आगामी 06 माह के भीतर ही पुन: परीक्षा कराने के आदेश दिए हैं। परीक्षाओं की शुचिता से कोई समझौता नहीं किया जा सकता, युवाओं की मेहनत के साथ खिलवाड़ करने वाले किसी भी दशा में बख्शे नहीं जाएंगे। ऐसे अराजक तत्वों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई होनी तय है।’

UP police recruitment exam cancelled

इस पूरे प्रकरण को लेकर राज्य में मुख्य विपक्षी पार्टी सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी पुलिस आरक्षी परीक्षा का निरस्त होना युवाओं की जीत है और भाजपा सरकार के प्रपंचों की हार है। उनके अनुसार पहले तो भाजपाई कह रहे थे पेपर लीक ही नहीं हुए तो अब कैसे मान लिया। उनके मुताबिक तमाम सबूतों के आगे चुनाव में ऐतिहासिक हार से बचने के लिए सरकार झुकने पर मजबूर हुई है।

See Also
supreme-court-gives-3-days-to-sbi-for-sharing-all-electoral-bonds-details

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

गौरतलब हो, राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार ने पिछले वर्ष दिसंबर में  60244 पदों में पुलिस भर्तियां के लिए परीक्षा की घोषणा की थी, जिसके बाद परीक्षा में सम्म्मलित होते हुए राज्य और अन्य स्थानों से करीबन 48 लाख लोगों ने 17- 18 फरवरी को आयोजित परीक्षा में भाग लिया था। यह परीक्षा यूपी के 75 जिलों में सम्पन्न करवाई गई थी, इसके बाद राज्य में कई जगहों से परीक्षा पेपर लीक होने की बातें निकलकर आई जिसके बाद राज्य सरकार ने शनिवार को पूरी परीक्षा को रद्द करते हुए पुनः परीक्षा को सम्पन्न करवाने का फैसला लिया है।

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.