Now Reading
Paytm के बाद अब BharatPe मुश्किल में, सरकार ने थमाया नोटिस: रिपोर्ट

Paytm के बाद अब BharatPe मुश्किल में, सरकार ने थमाया नोटिस: रिपोर्ट

  • कॉरपोरेट अफेयर्स मंत्रालय ने BharatPe को जारी किया एक नोटिस
  • अशनीर ग्रोवर के खिलाफ की गई कानूनी कार्रवाई के बारे में माँगी जानकारी
govt-issues-notice-to-bharatpe
https://twitter.com/Ashneer_Grover/status/1755076947447873634

Govt Issues Notice To BharatPe: ऐसा लगता है शायद देश में फिनटेक स्टार्टअप्स के लिए समय सही नहीं चल रहा। Paytm के बाद अब BharatPe मुश्किलों में घिरा नजर आ रहा है। भारत सरकार के कॉरपोरेट अफेयर्स मंत्रालय ने फिनटेक कंपनी BharatPe को एक नोटिस जारी किया है। मंत्रालय ने यह नोटिस कंपनीज एक्ट की धारा 206 के तहत थमाया है।

सामने आ रही जानकारी के मुताबिक। सरकार ने कंपनी से BharatPe से संस्थापक अशनीर ग्रोवर के खिलाफ की गई कानूनी कार्रवाई के बारे में जानकारी माँगी है। इसका खुलासा MoneyControl की एक रिपोर्ट के तहत किया गया है।

Govt Issues Notice To BharatPe

रिपोर्ट बताती है कि भारत सरकार के कॉरपोरेट मंत्रालय ने BharatPe को नोटिस थमाते हुए यह सवाल किया है कि अशनीर ग्रोवर के खिलाफ कोर्ट में दाखिल किए आपराधिक और दीवानी मामलों से जुड़े क्‍या सबूत उपलब्ध हैं। बताया जा रहा है कि उन सबूतों को माँगा गया है जो कंपनी ने अशनीर ग्रोवर के खिलाफ दर्ज कराए आपराधिक मामले में अदालत में जमा किए हैं।

आपको याद दिला दें, कुछ साल पहले ही BharatPe के संस्थापक रहे अशनीर ग्रोवर और उनकी पत्‍नी के खिलाफ कंपनी के पैसों में हेरफेर व अन्य कुछ आरोपों को लगाते हुए, उन्हें कंपनी के बोर्ड से बाहर कर दिया था।

न्यूज़North अब WhatsApp पर, सबसे तेज अपडेट्स पानें के लिए अभी जुड़ें!

आपको याद दिला दें साल 2022 में BharatPe के संस्थापक रहे अशनीर का एक कथित ऑडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह कथित रूप से एक बैंक के कर्मचारी के साथ आपत्तिजनक भाषा में बातचीत कर कथित धमकी दी थी। विवाद के कुछ ही दिनों बाद अशनीर ग्रोवर ने BharatPe के मैनेजिंग डायरेक्टर के पद से इस्तीफा दे दिया ।

इसके बाद BharatPe ने अपने वित्तीय खातों के ऑडिट कराने का भी फैसला किया था। इस ऑडिट के बाद BharatPe की ओर से अशनीर, उनकी पत्नी व रिश्तेदारों पर कंपनी के धन के दुरुपयोग व धोखाधड़ी आदि के आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज करवाई। उस समय कहा गया कि अशनीर और उनकी पत्नी द्वारा बरती गई वित्तीय अनियमितताओं के चलते इसे लगभग ₹88 करोड़ की हानि हुई। वैसे अशनीर व अन्य सभी ने इन आरोपों को सिरे से नकार दिया था।

BharatPe का बयान

इस बीच रिपोर्ट्स के अनुसार, सरकार द्वारा मिले नोटिस को लेकर BharatPe का कहना है कि सरकार ने साल 2022 के मामले की समीक्षा शूरू की है। इसी संबंध में मंत्रालय ने कंपनी को नोटिस जारी कर अशनीर मामले में ज्‍यादा जानकारी प्रदान करने को कहा है। BharatPe के अनुसार, वह जाँच एजेंसियों को हर संभव मदद करने के लिए तैयार है।

See Also
sebi-rejected-extended-trading-hours-plan-of-nse

अशनीर की प्रतिक्रिया

इस बीच अशनीर ने भी खबर पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने अपने पोस्ट में कहा –

“मुझे खुशी है कि MCA इस BharatPe के मामले पर गौर कर रहा है। मैं खुद कंपनी के खिलाफ NCLT में गया हूँ। मेरे पास MCA का नोटिस नहीं है, यह कंपनी को भेजा गया है, मुझे नहीं। मुझे यकीन है कि इसका मुझसे कोई लेना-देना नहीं है।”

“प्रेस के लिए अच्छा होगा कि वह अब रजनीश कुमार या शाश्वत की तस्वीरों का उपयोग करें। हालाँकि निश्चित रूप से मेरी तस्वीर का उपयोग करने पर मिलने वाली क्लिक जितनी क्लिक न मिलने का खतरा है।”

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.