Now Reading
ग्लोबल क्रिप्टो एक्सचेंज, CrossTower ने भारत में लॉन्च किया ‘क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म’

ग्लोबल क्रिप्टो एक्सचेंज, CrossTower ने भारत में लॉन्च किया ‘क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म’

Binance Layoffs

CrossTower India: क़ानूनी तौर पर तमाम तरीक़े की अनिश्चितताओं के बाद भी भारत में डिजिटल दुनिया के तेज प्रसार और संभावनाओं को देखते हुए क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े प्लेटफ़ॉर्म अभी से देश में अपनी जड़े मज़बूत करने में लगे हुए हैं। इसी के एज़ ताजे उदाहरण के रूप में, वैश्विक स्तर पर जाने-माने ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म और डिजिटल एसेट इन्वेस्टमेंट फर्म CrossTower ने आख़िरकार भारत में भी अपना क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म लॉन्च कर दिया है।

CrossTower की ओर से दिए गए बयान में कहा गया है कि इसका प्ले फ़ॉर्म बेहतरीन श्रेणी के सुरक्षा उपायों, सेवाओं और क्षमताओं के साथ एक मजबूत, स्केलेबल और लचीला ढांचे को ध्यान में रखते हुए बनाया गया था।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

आप सोच रहें होंगें कि भला CrossTower का भारत में आग़ाज़ करना इतना अधिक सुर्ख़ियाँ क्यों बटोर रहा है? असल में वैश्विक रूप से क्रिप्टोकरेंसी डेटा के लिए एक केंद्रीय और अग्रणी प्राधिकरण है, जिसका नाम है CryptoCompare, जो CrossTower को 152 वैश्विक एक्सचेंजों में से चौथा (4th) स्थान देता है।

आपको बता दें CryptoCompare अपनी इस क्रिप्टो एक्सचेंजों की रैंकिंग को संपत्ति और बाजार की गुणवत्ता, डेटा, सुरक्षा, केवाईसी, नियमों और टीम के पैमानों के आधार पर देता है।

CrossTower India Launch Offer

लेकिन CrossTower का देश में आग़ाज़ इसलिए भी ख़ास है क्योंकि अपने लॉन्च के एक हिस्से के रूप में CrossTower पहले 1,000 भारतीय ग्राहकों को एक्सचेंज पर अपना पहला ट्रेड करने पर ₹500 तक के अतिरिक्त बिटकॉइन (Bitcoin) अर्जित करने का मौक़ा देगा।

कंपनी का दावा रहा है कि ये उपयोगकर्ताओं को प्रतिस्पर्धी मूल्य निर्धारण की सेवा देने के साथ ही साथ ग्राहकों की सुरक्षा के लिए अहम सुरक्षा उपायों को अपनाती है।

crosstower-india-app-crypto-exchange

आँकड़ो पर गौर करें तो भारत का क्रिप्टोकरेंसी बाजार अप्रैल 2020 में $923 मिलियन से बढ़कर मई 2021 में $6.6 बिलियन हो गया है, जो कि औसतन 50 प्रतिशत से अधिक मासिक वृद्धि है। बता दें क्रिप्टोकरेंसी में अब तक 1.5 करोड़ से अधिक भारतीयों द्वारा निवेश किया जा चुका है।

वहीं Chainalysis की एक रिपोर्ट की मानें तो 154 देशों में से भारत क्रिप्टोकरेंसी अपनाने के मामले में 11वें पायदान पर है।

See Also
galaxy-unpacked-2024-highlight

CrossTwoer के अनुसार भारत के लिए कंपनी का बिज़नेस मॉडल कुछ ऐसा है जो युवाओं से लेकर वयस्कों तक के लिए काफ़ी सहज है और उनके क्रिप्टोकरेंसी में निवेश को आसान और सुरक्षित बनाता है।

कंपनी ने कहा,

“देश के किसी भी गांव, कस्बे या शहर में कोई भी व्यक्ति भारतीय रुपये का इस्तेमाल करते हुए हमारे विश्वसनीय CrossTower प्लेटफॉर्म के साथ क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग शुरू कर सकता है और 40 से अधिक क्रिप्टोकरेंसी (टोकन) तक पहुंच हासिल कर सकता है।”

बता दें CrossTower की स्थापना 2019 में कपिल राठी और क्रिस्टिन बोगियानो द्वारा डिजिटल एसेट ट्रेडिंग के रूप में की गई थी। कंपनी फ़िलहल अमेरिका और बरमूडा सहित क़रीब 81 देशों में सेवाएँ प्रदान कर रही है।

 

©प्रतिलिप्यधिकार (Copyright) 2014-2023 Blue Box Media Private Limited (India). सर्वाधिकार सुरक्षित.